Giloy Health Benefits In Hindi – गिलोय के स्वास्थ्य लाभ

दोस्तों आज हम गिलोय के स्वास्थ्य लाभ / Giloy Health Benefits In Hindi के बारे में विस्तार से बात करने वाले है आपको जानकर हैरानी होगी की गिलोय एक ऐसी औषधि है  जिसके उपयोग से लाखों लोगों ने कई बीमारियों से छुटकारा पाया है | गिलोय ( Giloy ) देखने में पान की पत्तियों की तरह होती है | यह बेल के रूप में उगती है बढती है | गिलोय की पत्तिया पतले, हरे और दिल के आकार की हैं |

Giloy Health Benefits In Hindi

 

गिलोय के पीछे एक लोकप्रिय कहानी भी है जो इस प्रकार है –

जब समुद्र मंथन हुआ तो उससे से अनेक चिजे निकली, जिसमे से की अमृत बहुत ही मूल्यवान थी जो की देवताओं को प्राप्त हुई | परन्तु दानवों ने छल से अमृत प्राप्त कर भागने लगे | भागने के क्रम में जहाँ जहाँ अमृत की बुँदे पृथ्वी पर गिरी, वहां वहां गिलोय पौधे के रूप में प्रकट हुआ, इसलिए इसे अमृत वल्ली भी बोला जाता है |

Giloy Health Benefits In Hindi – गिलोय स्वास्थ्य लाभ |

Giloy Meaning in Hindi

 

  • गुडूची (Guduchi)
  • अमृत वल्ली (Amrit Walli)
  • मधुपर्णी (Madhuparni)
  • इसे मराठी (Marathi) में गलो भी बोलते हैं

 

Giloy Health Benefits In Hindi – गिलोय के स्वास्थ्य लाभ

 

गिलोय की मदद से कैंसर को खत्म करे ( Cancer ) – गिलोय का उपयोग कैंसर की रोकधाम की लिए भी जाना जाता है | बाजार इसकी दवाईया भी उपलब्ध है जो की कैंसर जैसी बीमारी को रोकने में मदद करती है | चलिए जानते है की किस तरह से गिलोय का काढ़ा बना कर पीना चाहिए जिससे कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी को रोका जा सकता है |

इसके लिए आप एक मुट्ठी भर कर गेहूँ  के दाने लें  इसे अंकुरित होने के लिए थोड़े से पानी में डाल कर  5 से 7 दिनों तक के लिए छोड़ दे | और जब ये दाने 6 से 8 inch तक के रूप में निकाल आए तो उन्हें जड़ से थोडा ऊपर काट कर अलग कर लें |

अब इसे मिक्सर में पिस कर इसका जूस निकाल लें | फिर गिलोय के तने को ( ना ही ज्यादा मोटी या एकदम पतली ) 7 से 8 इंच तक तोड़ कर इसमें 7 से 8 तुलसी के पत्ते और 5 से 6 निम की पत्तिया  मिला दें फिर इसे भी पिस कर इसका जूस निकाल लें | अब इन दोनों मिश्रण को मिला कर हफ्ते में 3 बार सुबह के समय पिया करें |

गिलोय से रक्त शुद्ध करें ( Purify Blood ) – अगर आप केवल गिलोय की बेल को ही पिस कर सुबह के समय खाली पेट पानी के साथ इसका सेवन करते है तो आपके शरीर का खून काफी शुद्ध रहेगा |

गिलोय हमारे शरीर से विषाक्त पदार्थ निकालता है ( Remove Toxins ) – गिलोय का नियमित उपयोग करने से हमारे शरीर में उपलब्ध वर्तमान विषाक्त पदार्थों बाहर आ जाएंगे | यकीन मानिए जो लोग गिलोय का सेवन सप्ताह में एक बार भी करते है वो शायद ही साल में एक बार भी बीमार पड़ते हैं |

पीलिया ( jaundice ) – अगर आपको बार बार पीलिया हो रहा हो तो गिलोय के 4-5 पत्ते और बेल को ले कर उसका जूस निकाल कर हर एक दिन छोड़ कर पुरे 10 दिन तक पीना चाहिए | अगर आप चाहे तो थोड़ी से मिश्री भी मिला कर पी सकते हैं | ऐसा करने से ना केवल पीलिया ( jaundice ) से छुटकारा मिलेगा बल्कि यह दोबारा होने के संभावना भी खत्म हो जाती है |

कमजोरी ( weakness ) – अगर आपके शरीर में कमजोरी बार बार लगती हो तो सप्ताह  में 3 दिन गिलोय का उपयोग करे और साथ में 1 चम्मच शहद को ले कर पिया करें | ऐसा करने से  आपको कमजोरी से छुटकारा मिलेगा |

मधुमेह का रामबाण इलाज है गिलोय  – अगर आप मधुमेह ( Diabetes ) से छुटकारा पाना चाहते है तो आप लगातार 1 महीने तक गिलोय का सेवन करे | इसके लिए आप गिलोय की बेल को 5 या 6 इंच काट कर उसे कुच लें और इसे छान कर सुबह के समय पानी के साथ पिए | अगर आप इसका फ़र्क देखना चाहते है तो आप एक महीने बाद अपना Blood Test करवा कर Diabetes का limit देख सकते हैं  |

झुर्रियों का रामबाण इलाज है गिलोय : अगर आपके चेहरे पर झुर्रिया आ रही हो तो आप गिलोय को पिस कर इसका पेस्ट बना ले और चेहरे पर 15 मिनट लगा कर सूखने के लिए छोड़ दें और फिर ठंडे पानी से धो डालें ऐसा करने से चेहरे पर पड़ने वाली झुरियां कम हो जायेंगी |

दोस्तों उम्मीद करते है की आपको आपके Giloy Health Benefits In Hindi और Giloy kya hota hai से जुड़े हुए सभी  सवालों का सही जवाब मिल गया होगा. अगर आपके पास Giloy Health Benefits In Hindi से जुड़ी हुई और कोई जानकारी है तो आप हमे कमेंट में जरुर बताएं

One Response

  1. S.K. Nagpal June 21, 2018

Leave a Reply