बवासीर (पाइल्स) के लक्षण, कारण और घरेलू इलाज :- Piles Treatment in Hindi

Piles Treatment in Hindi – आज हम बात करेंगे एक ऐसी बिमारी के बारे में में जो यदि एक बार किसी को हो जाती है तो उसका जीना हराम कर देती है | जी दोस्तों हम बात कर रहे है पाइल्स के बारे में पाइल्स एक ऐसी भयंकर बिमारी का नाम है जो यदि एक बार किसी को हो जाए तो वो इंसान रो रो कर मरने जैसा हो जाता है क्योंकि इस बिमारी में काफी दर्द और परेशानी जो सहनी पढ़ती है | पाइल्स को हिंदी में बवासीर के नाम से भी जाना जाता है |
 
PILES TREATMENT IN HINDI
 

Piles Treatment in Hindi | Piles ayurvedic ilaj upchar home remedies in hindi

 
 
बवासीर कितने प्रकार की होती है ? Type Of Piles
 
ये दो प्रकार की होती है एक अंदरी रूप वाली और एक बाहरी रूप वाली इसमें ये होता है की अंदर वाली पाइल्स में गुर्दों के अंदर मसे भर जाते है और फिर शौच करने में काफी परेशानी होती है और शौच करते वक़्त मसे फुट जाते है और खून निकलता है | ये सुनने में ही इतना दर्दनाक है तो अगर किसी को एक बार हो जाये तो कितना भयंकर हो सकता है | बाहरी पाइल्स में ज्यादा फरक नहीं है उसमे ये होता है की गुर्दों के बहार के हिस्से में मसे भर जाते है और जलन आदि से वे फूटने लग जाते है और खून निकलते रहते है इससे बैठना भी मुश्किल सा हो जाता है और इतना दर्द होता है की ना इंसान किसी को बताता है न इसका कुछ कर सकता है |
 

Piles Treatment in Hindi

 
पाइल्स सा एक इलाज़ सबसे बेस्ट ये है की यदि इसको पहले से लक्षणों से पहचान कर उपचार चालू कर दिया जाए तो इसको ठीक कर सकते है | यदि ये बढ़ जाता है और सही समय पर उपचार न मिलने पर ऑपरेशन वाली अवस्था में आना पड़ सकता है क्युकी एक बार बढ़ जाने पर ये ऑपरेशन के सिवा ठीक नई होते है |
 

Symptoms Of piles | Bawaseer Ki Janch | बवासीर के लक्ष्ण :-

 
बवासीर एक दर्दनाक बीमार है और इसका इलाज़ करवाना बहुत जरुरी है और इससे ज्यादा जरूरी है इसकी सही समय पर पहचान होना ऐसा करने से इसे सही समय पर ठीक किया जा सकता है | बवासीर को यदि अनदेखा करदे तो इसका नुकसान  काफी भयंकर रूप में भुगतना पड़ सकता है इसलिए ऐसा बिलकुल भी न करे |
 
  • सबसे पहला लक्षण आपको ये दिख सकता है की जब आप शौच करने जाते हो तो आपको बार बार शौच आना महसूस होगा लेकिन शौच बिलकुल नहीं जायेगी |
  • दूसरा और एक लक्षण ये दिखने में आ सकता है की आपने गुडो के अंदर या बहार मसे होने शुरू होने लगते है और ये मसे शौच करते वक़्त फूटते है |
  • शुरूआती दौर में दर्द काफी कम महसूस होता है इसलिए कुछ लोग इसे शर्म के मारे ऐसे ही नज़रअंदाज़ कर देते है लेकिन ऐसा करना बेवकूफी से कम नहीं है |
  • एक और लक्षण पाइल्स होने पर ये नज़र आता है की अक्सर गुडो में खुजली या जलन काफी महसूस होती है |
 
Bawaseer Ke Karan | पाइल्स का कारण  :-
 
बवासीर कई वजहों से होती है जिनमे से खास वजह हम आपको बता रहे है और आप इन वजहों को ध्यान में रखकर बवासीर से आसानी से बच सकते है |  बवासीर की एक वजह यह है की बवासीर अक्सर महिलाओ में पाया जाता है ये तब होता है जब महिला माँ बनने वाली होती है या हम कह सकते है की जब महिला गर्भवती होती है | गर्भवती महिला को पाइल्स हो सकते है |
 
और एक दूसरी वजह यह है की जो लोग आलसी होते है या फिर ज्यादा उधर इधर नहीं जाते और एक ही जगह उनका बैठा रहना बना रहता है उनको बवासीर हो सकता है | इसके साथ ही जो लोग शरीर से मोठे होते है उनको भी पाइल्स हो सकते है क्योंकि उनके शरीर में फैट ज्यादा होता है और वो मसो के बनने की वजह बन जाता है |
 
एक और पाइल्स की खास वजह यह हो सकती है की जब किसी को कब्ज की बिमारी होती है जिसमे शौच करने में काफी समस्या आती है तब उनको शौच करते वक़्त अधिक ताकत / ज़ोर लगाना पडता है इससे ये होता है की गुडो की जो नसे होती है वे तनने लगती है और मसे बन जाते है |
 

Piles Treatment in Hindi | Piles ayurvedic ilaj upchar home remedies in hindi | पाइल्स का इलाज

 
हम आपको कुछ ऐसे फायदेमंद घरेलु नुस्खे बताएंगे की जिससे की आपको जल्द ही पाइल्स की बीमारी से छुटकारा मिल जायेगा |
यदि आपके बवासीर में अधिक खून निकलता है तो ब्लड को रिफार्म करने के लिए बीटरूट का सेवन करे उससे अधिक मात्रा में खून बनता है |
 
पाइल्स को खत्म करने के लिए आप ताज़ी मूली खाइये ये वाकई में फायदेमंद होती है और ये बवासीर को कम करदेती है यदि आप मूली खाना पसंद नहीं करते है तो फिर इसका जूस बनाकर सेवन कर सकते है |
 
आपको पता होगा की एक बड़ी इलाइची आती है जो की काफी फायदेमंद होती है ये बवासीर को खत्म करने में राम बाण जैसा इलाज़ है इसको जरूरत के हिसाब से सही मात्र में लेकर भून ले और फिर इसका मिक्सर में ग्राइंड कर चूर्ण बना ले ऐसा कर आप हर रोज़ थोड़ा सा चूर्ण पानी में घोल कर दवाई के रूप में ले सकते है ये काफी अच्छा होता है |
 
पतंजलि की एक काफी अच्छी दवाई जो की बवासीर के लिए खास रूप से आती है वो आप ले सकते है उसका नाम है दिव्य अर्शकल्प वटी
!

One Response

  1. amit October 1, 2018

Leave a Reply