शाहजहाँ का इतिहास | Shahjahan History In Hindi

दोस्तों आज हम मुग़ल शासक हुमायूँ के बारे में बात करेंगे Shahjahan History In Hindi के अलावा हम इस पोस्ट में Shahjahan’s deathऔर Shahjahan story In Hindi भी बताएंगे.

शाहजहाँ पांचवा मुग़ल शहंशाह था। शाहजहाँ अपनी न्यायप्रियता और वैभवविलास के कारण अपने काल में बड़े लोकप्रिय रहे। किन्तु History में उनका नाम केवल इस कारण नहीं लिया जाता क्योंकि शाहजहाँ का नाम एक ऐसे आशिक के तौर पर लिया जाता है जिसने अपनी बेग़म मुमताज़ बेगम के लिये विश्व की सबसे ख़ूबसूरत इमारत ताज महल बनाने का यत्न किया।

शाहजहाँ का इतिहास | Shahjahan History In Hindi

सम्राट जहाँगीर के मौत के बाद छोटी उम्र में ही उन्हें मुगल सिंहासन के उत्तराधिकारी के रूप में चुन लिया गया था। 1627 में अपने पिता की मृत्यु होने के बाद वह गद्दी पर बैठे। उनके शासनकाल को मुग़ल शासन का स्वर्ण युग और भारतीय सभ्यता का सबसे समृद्ध काल बुलाया गया है।

शाहजहाँ का जन्म 5 जनवरी 1592 को लाहौर में हुआ था इसके बचपन का नाम खुर्रम था शाहजहाँ का खुर्रम नाम अकबर ने रखा था खुर्रम का अर्थ होता है –आनंददायक. 1612 में अर्जुमंद बानू बेगम उर्फ मुमताज़ महल का इनके साथ विवाह हुआ। 24-25 फरवरी 1628 को शाहजहाँ ने ‘अबुल मुजफ्फर शहाबुद्दीन मुहम्मद साहिब किरन-ए-सानी’ की उपाधि लेकर गद्दी पर बैठा उसका राज्याभिषेक आगरा में संपन्न हुआ।

शाहजहाँ का इतिहास | Shahjahan History In Hindi

शाहजहाँ ने सन् 1648 में आगरा की बजाय दिल्ली को राजधानी बनाया  किंतु उसने आगरा की कभी उपेक्षा नहीं की। उसके प्रसिद्ध निर्माण कार्य आगरा में भी थे। शाहजहाँ का दरबार सरदार सामंतों, प्रतिष्ठित व्यक्तियों तथा देश−विदेश के राजदूतों से भरा रहता था। उसमें सबके बैठने के स्थान निश्चित थे। जिन व्यक्तियों को दरबार में बैठने का सौभाग्य प्राप्त था। वे अपने को धन्य मानते थे और लोगों की दृष्टि में उन्हें गौरवान्वित समझा जाता था। जिन विदेशी सज्ज्नों को दरबार में जाने का सुयोग प्राप्त हुआ था वे वहाँ के रंग−ढंग, शान−शौक़त और ठाट−बाट को देख कर आश्चर्य किया करते थे।

Shahjahan History In Hindi

Source

शाहजहाँ के अंतिम समय मे उसके पुत्र औरंगज़ेब ने ही उसे बीमारावस्था में कैद कर दिया और खुद सिंहासन पर बैठ गया। बाद में कैद रहते हुए ही शाहजहाँ की मृत्यु हो गयी । शाहजहाँ को आज भी उसके द्वारा बनाये गए ताज़महल के लिए याद किया जाता है। यह दुनिया मे सात अजूबों में से एक है। दुनिया मे प्यार की निशानी के रूप में मशहूर इस इमारत को देखने के लिए दुनिया भर से पर्यटक आगरा आते है।

उम्मीद करते है की आपको आपके Shahjahan History In Hindi और Shahjahan story In Hindi से जुड़े हुए सभी सवालों का सही जवाब मिल गया होगा. अगर आपके Shahjahan History In Hindi से जुड़ी हुई और कोई Information है तो आप हमे Comment में जरुर बताएं.

Leave a Reply