शीघ्रपतन क्या है ? : इसके कारण, लक्षण और शीघ्रपतन का उपचार हिंदी में

शीघ्रपतन यू तो एक आम समस्या है पर हमारे समाज मे इसके शिकार व्यक्ति को गलत निगाहों से देखा जाता है,जबकि देखा जाए तो शीघ्रपतन कोई बड़ी समस्या नही है और इसका उपचार भी सम्भव है।अगर आपको लगता है कि इस समस्या से आप अकेले घिरे हुए है तो नही जनाब आप अकेले नही है आंकड़ो पर निगाह डाले तो दुनिया भर के 30 से 40% लोग ऐसे है जो अपने जीवन मे कभी ना कभी इस समस्या से ग्रसित हुए है। आज आपकी अपनी वेबसाइट गजब है के माध्यम से हम शीघ्रपतन से जुड़ी हर जानकारी से अवगत कराएंगे ताकि आप इस दोष को पहचानकर इस समुचित इंलाज करवा सके। तो चलिए शुरू करते है।
 
 
 
shighrapatan-rokne-dawa-ilaj-upay-in-hindi

shighrapatan-rokne-dawa-ilaj-upay-in-hindi

 

 शीघ्र पतन में क्या होता है और शीघ्रपतन का उपचार क्या है 

 
शीघ्रपतन का मतलब है कि वीर्य का जल्दी गिरना यानी जब इंसान सम्भोग करता है और औरत की कामोउत्तेजना  शांत होने से पहले ही उसका वीर्य निकल जाए या हस्तमैथुन करने की प्रक्रिया के दौरान उसका वीर्य जल्दी ही निकल जाए तो समझ जाना चाहिए कि वो शीघ्रपतन दोष से गुजर रहा है । कुछ केस में तो नौबत ये तक आ जाती है कि सेक्स करने से पहले ही वीर्य (स्पर्म) बाहर निकल जाता है । खैर इनमे से अगर आपके साथ कुछ समस्या है तो ऐसे में घबराने के मुकाबले हिम्मत से काम लेना चाहिए ये कोई लाईलाज बीमारी नही है इसका ईलाज सम्भव है।
 

शीघ्रपतन कितने प्रकार का होता है ।

 
मुख्यतः देखा गया है कि शीघ्रपतन मुख्यत दो प्रकार का होता है ।
 
 
1. लाइफ लॉन्ग ( प्राइमरी ): ये समस्या इंसान को शुरुआत से अंत तक रहती है यानी सेक्स शुरू करने से लेकर सेक्स के अंत तक उसको इस समस्या से दो चार होना पड़ता है ।
 
2. एक्वायर्ड ( सेकेंडरी ) : एक्वायर्ड केस में शुरू शुरू में तो व्यक्ति सेक्स के शुरुआती दिनों में तो सामान्य रहता है परंतु कुछ समय बाद ही उसको शीघ्रपतन की समस्या हो जाती है । हालांकि शीघ्रपतन के कारणों का अभी तक पता नही लग पाया है परंतु विशेषज्ञों का मानना है कि  ये बॉयोलॉजीकली और फिजिकली प्रभाव के कारण होता है।
 

ये भी हो सकते है कारण –

 
1. किसी नए इंसान के साथ सेक्स करने के दौरान कामोउत्तेजना के ज्यादा प्रवाह होने के चलते भी ये हो सकता है ।
 
2. अगर सेक्स लम्बे समय बाद किया जाए तो भी शीघ्रपतन की समस्या हो सकती है ।
 
3. अपनी पार्टनर के साथ सेक्स लाइफ को लेकर चिंता करना भी शीघ्र पतन में महती भूमिका निभाता है।
 
4. घर परिवार में किसी बात का तनाव भी शीघ्र पतन का कारण होता है।
 
थाइरोइड सम्बन्धी समस्याएं –
 
 
1 .अनुवांशिक कारण
2. सर्जरी या आघात के कारण नसों में हुई क्षति
3. डायबिटीज
4. हाई ब्लड प्रेशर
5.प्रोस्टेट डिजीज
 

शीघ्रपतन दूर करने का देशी नुस्खा हिंदी में | Shighrapatan Rokne Dawa Ilaj Upay In Hindi

 
i) सबसे पहले 5 ग्राम अश्वगंधा पाउडर ले और उसमें 5 ग्राम के आसपास ही मिश्री मिलाकर उसको गुनगुने दूध के साथ सुबह शाम लें और अगर इसको सुबह शाम खाया जाए तो जल्दी ही लाभ होता है ।
 
ii) 4 ग्राम मूसली पाउडर को सुबह शाम के खाने के बाद अगर दूध से लिया जाए तो इससे वीर्य गाढ़ा होता है और शीघ्रपतन में भी आराम मिलता है।
 
iii) जामुन की गुठली का पाउडर भी शीघ्रपतन में रामबाण सिद्ध होता है । इसे 3-3 ग्राम मात्रा में कुछ दिन लगातार लेने से शीघ्रपतन में लाभ मिलता है।
 
iv) शिलाजीत का सेवन अधिकतर सर्दियों में किया जाता है इसके लिए माचिस की तीली को शिलाजीत पाउडर में देकर उसपर जितना पाउडर चिपके उसको दूध में मिलाकर पीना चाहिये । याद रखे ज्यादा मात्रा में शिलाजीत का सेवन ना करे वरना लाभ की जगह हानि भी हो सकती है।
 
v) आयुर्वेद की भी अनेक औषधियां शीघ्रपतन में रामबाण सिद्ध होती है जैसे मकरध्वज, कामिनी विद्रावण रस, अश्वगंधा चूर्ण, जाती फलादि चूर्ण, चंदनादि चूर्ण, चन्दनासव.
 

2) काउंसलिंग भी है शीघ्रपतन की रोकथाम में कारगर

 
अधिकतर देखा गया है कि शीघ्रपतन के मरीज के जेहन में इस दोष को लेकर अनेक डर पैदा हो जाते है और वो शीघ्रपतन को बड़ा रोग मानकर उसे किसी से बताने में भी संकोच करते है । इसलिए अगर ऐसे मरीज की काउंसलिंग की जाए तो उसका डर दूर करके उसे इस बीमारी से मुक्ति दिलाई जा सकती है।
 
 शीघ्रपतन के शिकार व्यक्ति की फीमेल साथी को भी चाहिये कि वो अपने बीमार साथी का पूरा साथ दे और सेक्स के दौरान अगर वो उसे सन्तुष्ट ना भी कर पाए तो उसके सामने शिकायत ना करे ।
 

सेक्स से पहले हस्तमैथुन  –

 विशेषज्ञों की माने तो अगर इंसान सेक्स से पहले वो हस्तमैथुन का सहारा ले तो उसके जल्दी डिस्चार्ज होने की संभावना कम हो जाती है ।
 

 कुछ एक्सरसाइज

 
a) रुको और फिर करो –
 
“रुको और फिर करो ” तकनीक के अंतर्गत महिला साथी अपने हाथ से हस्तमैथुन करती है और जैसे ही पुरुष झड़ने को होता है तभी वो अपने महिला पार्टनर को रोक देता है और थोड़ी देर रुककर फिर इसी क्रिया को अंजाम देता है ऐसे पूरी प्रक्रिया से स्खलन शक्ति बढ़ती है और वीर्य के जल्दी स्खलन हो जाने सम्बन्धी समस्याओ से मुक्ति मिल जाती है.
 
b) Squeeze तकनीक
 
इस क्रिया में साथी हस्तमैथुन शुरू करता है और जब स्खलन होने को प्रतीत होता है, तब साथी के सुपाडे(लिंग के आगे का हिस्सा) को दबा दिया जाता है जिससे वीर्य का बहाव बन्द हो जाये । इस क्रिया से फायदा ये है कि इससे शीघ्रपतन की समस्या से मुक्ति मिलती है और डिस्चार्ज होने का समय बढ़ता है।
 
 कंडोम का प्रयोग –
 
लिंग की सेंसिटिविटी कम करने के लिए अगर पुरुष कलाईमैक्स और ड्यूरेक्स कंडोम का इस्तेमाल करे तो उनके लिए ये अत्यन्त फायदेमंद होता है  इनमें  benzocaine और lidocaine द्रव्य मिला रहता है जो सेक्स क्षमता को बढाने में मददगार साबित होता है।
 

शीघ्रपतन दूर करने का देशी नुस्खा हिंदी में | Shighrapatan Rokne Dawa Ilaj Upay In Hindi

 
 योग भी करता है शीघ्रपतन में आराम
 
जैसा कि हम बखूबी जानते है योग इंसान के शरीर को फायदा पहुँचाता है लेकिन क्या आप जानते है शीघ्रपतन में भी व्रजासन, मंडूकासन, शीर्षासन जैसे योगसन बेहद फायदेमंद होते है।
 
अगर ऊपर दिए गए उपायो से भी फायदा नही पहुँचता है तो आपको फौरन डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए तभी आप इस दोष को दूर कर सकते है और अपनी सेक्स लाइफ को बेहतर बना सकते है ।
 
आशा करते है आपको ये जानकारी अच्छी लगी होगी अगर आपका कोई सवाल या सुझाव है तो निचे कमेंट जरुर करे और अगर आप और भी स्वास्थ्य संबन्धित जानकारी पढ़ना चाहते है तो यहाँ क्लीक करे.

One Response

  1. www.paydayloansrm.com October 30, 2017

Leave a Reply