स्वप्नदोष के नुकसान, कारण और इलाज – Swapandosh Nightfall Ke Upay Aur Karan In Hindi

स्वप्नदोष के नुकसान, कारण और इलाज – Swapandosh Nightfall Ke Upay Aur Karan In Hindi

 

Swapandosh Nightfall Ke Upay Aur Karan In Hindi

कई लोग स्वप्नदोष नाम से अभी तक अनजान होंगे तो सबसे पहले तो हम आपको इसका मतलब समझा देते है | दरअसल ये मूत्र नहीं है कई लोगो को गलतफहमी होती होगी की रात को जब उनका पैंट गीला हो जाता है तो वह मूत्र होगी लेकिन ऐसा नहीं है | स्वनपद्वोष में मूत्र नहीं बल्कि स्पर्म निकलता है मतलब वीर्य ! रात को अंदर मूत्र का निकलना अक्सर बच्चो में देखा जाता है और ये धीरे धीरे समय के बढ़ते बढ़ते जब बच्चा ८-१० साल का हो जाता है तब तक पूर्ण रूप से ये बीमारी ठीक हो जाती है | लेकिन कई लोगो को उसके बावजूद भी १८-२० साल तक ये बिमारी लगी रहती है इसलिए डॉक्टर से आवश्यक ट्रीटमेंट लेने पर ये समस्या दूर हो जाती है |

स्वप्नदोष क्या है – Swapandosh kya hai?

वही स्वप्नदोष बच्चो में नहीं बल्कि बड़ो में होता है | रात को सोते समय उनके लिंग से वीर्य का एजकुलेशन खुद ही हो जाता है | स्वप्नदोष उनको होता हैं जो लोग रात को नींद में सेक्स आदि के सपने देखते है और उनको स्वप्नदोष हो जाता है | जब वे सुबह उठत्ते है तो उन्हें कुछ भी पता नहीं होता है की उन्होंने क्या सपना देखा था |

स्वप्नदोष होने के कारण – Nightfall (Swapandosh) hone ke karan

ये प्रॉब्लम उनमे ज्यादा देखी जाती है जिन्होंने लम्बे समय से सेक्स ना किया हो या फिर वे कोई सेक्स की गतिविधि में नहीं आये हो | ऐसा होने पर उत्तेजना बढ़ जाती है और अंदर की वीर्य निकल जाता है | ये सब इसलिए होता है की लिंग से ज्यादा सेक्स की इच्छा हमारा दिमाग रखता है और इसलिए दिमाग से ये सब नियंत्रित होता है | ये उनमे देखि जाती है जिन्होंने लाइफ में कभी सेक्स नहीं किया हो पर वे सेक्स की काफी इच्छा रखते है | ऐसा होने पर सेक्स के लिए वे लोग काफी उत्तेजित हो जाते है |

स्वप्नदोष से कई लोग अपने बीमारी का विस्तार किसी को कर नहीं पाते है और ऐसा करना कोई शर्मिंदगी की बात नहीं है लेकिन वे शर्मिन्दा महसूस करते है | स्वप्नदोष कोई बड़ा रोग या गंभीर बीमारी नहीं है ये सिर्फ एक अचानक से होने वाला एजकुलेशन है जो हम खुद ठीक कर सकते है | होता ऐसा है की जब कोई लम्बे समय से सेक्स या हस्थमैथुन नहीं करता है और तो उसके टेस्टिस में स्पर्म लोड बढ़ जाता है और सेक्स की उत्तेजना भी नींद में उतनी ही बढ़ जाती है और इसी प्रकार कभी स्पर्म बह जाता है इंसान को खुद को पता नहीं होता है |

सबसे पहले से तो स्वप्नदोष होने पर स्पर्म को ऐसे ही नहीं छोड़ देना चाहिए उसको लिंग आदि से अच्छी तरह से धो देना चाहिए और वीर्य से भीगे कपड़े भी धो देने चाहिए | नहीं तो स्पर्म को ऐसे ही छोड़ देने पर बैक्टीरियल इन्फेक्शन हो सकता है |इसके नतीजे खुजली आदि के रूप में देखे जा सकते है |

Swapandosh ka ilaj hindi me | स्वप्नदोष के घरेलु उपाय | Nightfall ke gharelu upay hindi me

अनार वीर्य को अनिच्छित समय पर रोकता है इसके लिए आप हर रोज़ एक अनार खा सकते है और है अनार खाकर इसके छिलके को फेंकना नहीं है | क्योंकि अनार से ज्यादा तो इसका छिलका काम आता है अनार के छिलके को सूरज की किरणों में अच्छे से कपडे पर रखकर सूखा दे ऐसा १ या फिर २ दिन तक सूखने दे जब छिलका अच्छे से सुख जाता है तो फिर इसका पाउडर बना सकता है ऐसा आप मिक्सर की मदद से कर सकते है | ऐसा हो जाने पर इस पाउडर को थोड़ा सा लेकर फिर आप इसको शहद के साथ मिलाकर खा सकते है | इससे स्वप्नदोष नहीं होगा |

लहसुनन भी इस मामले मी काफी काम आता है क्योंकि इसके अंदर एलिसिन होता है जो की शरीर में किसी Fluid के बहाव को नियंत्रित करता है | इसके लिए आप दिन में २-३ तीन लहसुन के टुकड़े लेकर इन्हे सेकले और फिर ऐसा हो जाने के बाद आप इसके चबाले | यदि आपको लहसुन को डायरेक्ट खाने में दिक्क्त होती है तो आप इसके बजाए खाने में लहसुन डालकर इसका सेवन कर सकते है |

दही में कुछ अच्छे पदार्थ होते है जिससे की आप स्वप्नदोष को नियंत्रित कर सकते है | दही को आप सीधा पी सके तो पी सकते है या फिर सही से युक्त कई चीज़े आती है वो आप खा सकते है जैसे की दही वड़े, दही मटरी, दहीपुरी आदि… आप चाहे तो दही की छाछ बना कर भी पी सकते है | लेकिन आप को ये विधि में एक नहीं बल्कि दो या तीन बार अपनानी पड़ेगी | आप दही को दही में सुबह नास्ते और दोपहर खाने और शाम के खाने के साथ तीनो टाइम ले तो सबसे अच्छा नतीजा आपको दिखने मिलेगा |

ताज़ा बादाम से बना दूध, आप बादाम के पाउडर से बने गरम दूध को भी पी सकते है जिसके चलते स्वप्नदोष जड़ से खत्म हो जायेगा |

 

आशा करते है आपको Swapandosh Nightfall Ke Upay Aur Karan In Hindi से जुडी हुई जानकारी अच्छी लगी होगी.

Leave a Reply