अगर आपको भी यात्रा करते वक्त अगर उल्टी आती है तो करो इसका सेवन

जब हम यात्रा पर जाते हैं तो हमें उल्टी आने लग जाते हैं क्योंकि वहां पर, कुछ ऐसी कैसे होती है जो हमारे शरीर पर बुरा असर डालती है जिससे हमारा मन घबराने लगता है और उल्टियां आने लग जाती है, ऐसा हर किसी के परिवार में किसी न किसी को जरूर होता है, अगर ऐसा होता है तो यह पोस्ट आपके लिए है, इसका उपयोग करने से आपकी उल्टी आना बिल्कुल ही बंद हो जायेगी ।

•उल्टी हिचकी तथा उल्टी में आंवले का 10 – 20 मिलीलीटर रस , 5 – 10 ग्राम मिश्री मिलाकर देने से आराम होता है । इसे दिन में 2 – 3 बार लेना चाहिए । केवल इसका चूर्ण 10 – 50 ग्राम की मात्रा में पानी के साथ भी दिया जा सकता है ।

Loading...

•त्रिदोष ( वात , पित्त , कफ ) से पैदा होने वाली उल्टी में आंवला तथा अंगूर को पीसकर 40 ग्राम खांड , 40 ग्राम शहद और 150 ग्राम जल मिलाकर कपड़े से छानकर पीना चाहिए ।

•आंवले के 20 ग्राम रस में एक चम्मच मधु और 10 ग्राम सफेद चंदन का चूर्ण मिलाकर पिलाने से वमन ( उल्टी ) बंद होती है ।

•आंवले के रस में पिप्पली का बारीक चूर्ण और थोड़ा सा शहद मिलाकर चाटने से उल्टी आने के रोग में लाभ होता है ।

•आंवला और चंदन का चूर्ण बराबर मात्रा में लेकर 1 – 1 चम्मच चूर्ण दिन में 3 बार शक्कर और शहद के साथ चाटने से गर्मी की वजह से होने वाली उल्टी बंद हो जाती है ।