अगर आप भी छुते हो किसी के पैर तो इससे पहले जान ले यह बात

सनातन धर्म में अपनों से बड़ों का का अभिवादन करने के लिए चरण छूने की परंपरा सदियों से चली आ रही है। सनातन धर्म में अपने से बड़े के आशीर्वाद के लिए चरण स्पर्श करना उत्तम माना गया है लेकिन क्या आप जानते हैं अपने से बड़ों के चरण स्पर्श करने से कई फायदे होते हैं। इसलिए, आज के इस आर्टिकल में हम आपको अपने से बड़े व्यक्ति के चरण स्पर्श करने से होने वाले फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं।

शास्त्रों में कहा गया है कि रोजाना अपने से बड़ों के अभिवादन से आयु, यश, विद्या और बल में बढ़ोतरी होती है। यही वजह है कि आज के इस दौर में भी बहुत से लोग रोजाना अपने से बड़ों का पैर जरूर छूते हैं।

Loading...

ऐसा माना जाता है कि पैर के अंगूठे से भी शक्ति का संचार होता है, मनुष्य के पांव के अंगूठे में प्रसारित करने वाली शक्ति होती है और जब कोई व्यक्ति ऐसे में किसी व्यक्ति के पैर छूता है तो इसका सकारात्मक असर व्यक्ति पर पड़ता है।

यह एक प्रकार की एक्सरसाइज भी है, अपने से बड़ों के पैर छूने के दौरान आप कसरत की मुद्रा में होते है। रोजाना ऐसा करने से शरीर लचीला भी बनता है।

प्रणाम करने का एक बड़ा फायदा यह भी है कि इससे हमारे अंदर का अहंकार कम होता है, इन्हीं कारणों से बड़ों को प्रणाम करने की परंपरा को नियम और संस्कार के रूप में दिया गया है।

आपको हमारी आज की यह खबर कैसी लगी हमे कमेंट में इसके बारे में अवश्य बताए. और इस खबर को ज्यादा से ज्यादा शेयर करे ताकि दुसरो को भी इसका फायदा मिल सके.