इन बीमारियों में संजीवनी बूटी से कम नहीं है छुईमुई का पौधा, फायदे आपको भी हैरानी में डाल देंगे

दोस्तों आपका बहुत – बहुत स्वागत है. आज की हमारी इस खबर में हम आपको छुईमुई के पौधे के फायदों के बारे में बता रहे है. दोस्तों आपने भी छुईमुई के पौधे के बारे में बहुत कुछ सुना होगा कि छुईमुई के पौधे के हाथ लगाने से ही इसकी पत्तियां सिकुड़ जाती है. और छुईमुई का पौधा पूरे साल मिल जाता है.

छुईमुई का पौधा जितना देखने में साधारण सा दिखता है. लेकिन यह उतना साधारण होता नहीं है. छुईमुई का पौधा आपको आपके घर के आस पास भी मिल जाता है. और जितना आसानी से यह पौधा मिल जाता है उतनी ही भयानक बीमारियों में यह फायदा पहुंचाता है.

Loading...

छुईमुई के पौधे को आमतौर पर लाजवंती के नाम से भी जाना जाता है.

इसका उपयोग वहुत सी बीमारियों में किया जाता है इस पौधा की शर्मीली प्रवर्ति के कारण ये लोगो में बहुत फेमस है क्योकि इसको छूने से एकदम शांत हो जाता है. इस पौधा की पत्तियो में एंटीवारयल के गुण पाए जाते है और इस कारण ये रोगो से लड़ने में समर्थ है.

लाजवंती से नकसीर,नपुंसकता ,पेट के कीड़े,बवासीर जैसी ख़तरनाक बीमारियों में काल बनकर जड़ से ख़त्म कर देता है बवासीर के लिए रामबाण पौधा है बवासीर में छुइमुई के जड़ और पत्तियो को पीसकर गाय के दूध में सुबह स्याम लेने से इस बीमारी का इलाज संभव है पथरी में छुइमुई का पौधा काफी असरदार है छुइमुई की 10 ग्राम जड़ का कढा बनाकर सुबह शाम लेने से पथरी गलकर पेशाब के रास्ते निकल जाएगी.

आपको हमारी आज की यह खबर कैसी लगी हमे कमेंट में इसके बारे में अवश्य बताए. और इस खबर को ज्यादा से ज्यादा शेयर करे ताकि दुसरों को भी इसका फायदा मिल सके.