किडनी फेल होने से पहले ही देने लगती ही यह लक्षण, जान लो कही देर ना हो जाए

किडनी शरीर का मुख्य अंग है जो शरीर से सारे हानिकारक और विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने का काम करती है। किडनी रक्त को साफ कर सारे विषाक्त पदार्थों को मूत्र के रूप में शरीर से बाहर कर देती है। हर मनुष्य के शरीर में दो किडनी होती है। जब गुर्दे काम करना बंद कर देते हैं, तब शरीर में कई लक्षण उत्पन्न होते हैं। हालांकि कुछ लक्षणों में से कई लक्षण बहुत अस्पष्ट होते हैं। ये लक्षण इतनी धीमी गति से बढ़ते हैं कि रोगी अक्सर इनकी तरफ ध्यान नहीं दे पाते और सही समय पर समुचित इलाज नहीं हो पाता।

  • मूत्र विसर्जन के वक्त अगर पेशाब में खून आए तो फौरन सावधान हो जाएं और तुरंत किसी यूरोलॉजिस्ट से संपर्क करें। पेशाब में खून आना सिर्फ किडनी खराब होने के लक्षण नहीं बल्कि किडनी या मूत्राशय में कैंसर होने का लक्षण भी है।
  • अगर आपके शरीर का वजन अचानक बढ़ने लगे, शरीर में सूजन रहने लगे तो आपको सावधान हो जाना चाहिए, यह किडनी खराब होने का संकेत हो सकता है।
  • रात में पेशाब होने की मात्रा या तो बढ़ जाती है या कम हो जाती है। रात को बार-बार उठकर पेशाब करने जाना। किडनी के अस्वस्थ्य होने का सबसे प्रहला और प्रधान लक्षण होता है।
  • किडनी के बीमारी के कारण मस्तिष्क में ऑक्सिजन की कमी हो जाती है जिसके कारण चिड़चिड़ापन और एकाग्रता में कमी आ जाती है।
  • किडनी खराब होने पर शरीर में पानी बढ़ जाता है और यही पानी फेफड़ों में भर जाता है जिसकी वजह से फेफड़े अपना काम ठीक तरह से नहीं कर पाते। ऐसे में सांस लेने में बहुत तकलीफ होती है। ये लक्षण धूम्रपान करने पर भी सामने आते हैं लेकिन इसे अनदेखा ना करें, ये किडनी के खराब होने का संकेत भी हो सकता है।

आपको हमारी आज की यह खबर कैसी लगी हमे कमेंट में इसके बारे में अवश्य बताए और इस खबर को ज्यादा से ज्यादा शेयर करे ताकि दुसरो को भी इसका फायदा मिल सके.

Loading...