बिल गेट्स बोले- कोरोना वैक्सिन कोई तैयार करे, सबसे ज्‍यादा डोज तो भारत ही बनाएगा

दुनिया के दूसरे सबसे अमीर शख और बिल गेट्स को भारत से बड़ी उम्मेदें हैं। उन्होंने कहा कि अगले साल की पहली तिमाही तक कई को -19 वैक्स्लीन फाइनल शटेज में होंगे। उन्हें उन्होंने कहा कि वै वैक्लिन की एडिटिंग के लिए पूरी दुनिया भारत की ओर देख रही है। उन्होंने कहा कि अगले साल कभी भी विभाजित -19 वैक्लाइन रोलआउट हो सकता है। भारत में बड़े पैमाने पर वैक्लाइनों का संपादन होगा। उन्हें उन्होंने कहा कि इसमें से कुछ अपमानित देशों को भी मिले, इसके लिए दुनिया भर की तरफ नजर गड़ाए है।

Bill Gates.

वैक्टिन एडिटिंग के लिए खुद बात कर बिल गेट्स

गेट्स ने कहा कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सिन देशक देश है। ऐसे में हमें कोविड -19 वैक्लिन के अनुलेखन में भारत के सहयोग की जरूरत है। उन्होंने कहा कि हम सब भारत में जल्दिद से जल्दीद वैक्सिन चाहते हैं, बस एक बार उसके प्रभावी और सुरक्षित होने का पता चलेगा। गेट्स ने यह भी कहा कि वह वैक्लाइन के भारत में संपादन करने के बारे में बातचीत कर रहे हैं। एक बार कोई भी वैक्लाइन, चाहे वह अस्त्राजेनेका की हो, ऑक्सफर्ड की, नोवावैक्स की या फिर जॉनसन ऐंड जॉनसन की, आ जाए तो गेट्स भारत में उसके संपादन की पूरी कोशिश करेंगे।


… तो बचतेगी आधी जिंदगियाँ
बिल गेट्स का फाउंडेशन भी कोरोना से लड़ाई में योगदान दे रहा है। भारत के आकलनथापक ने कहा कि “यह कोई विशुद्ध युद्ध जैसा नहीं है लेकिन उसके बाद की सबसे बड़ी बात है।” उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया को वैक्सीन समान रूप से मिले, भारत में मदद करेगा। गेट्स ने कहा, “हमारे पास एक मॉडल है जो दिखाता है कि अगर आप सिर्फ रईस देशों को वैक्लाइन भेजोगे तो बाकी दुनिया में जितनी मौतें होंगी, उसकी आधी जानें बचाई जा सकती हैं। इसके लिए जिन्दें जियादा जरूरत है, उन्हें वे वैक्टिन मुहैया करानी होंगी। । “


स्वास्तथ मंत्री भी अगले साल तक वैक्लाइन की जता रहे उम्म
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ। हर्षवर्धन के अनुसार, कोरोना वैक्लिन अगले साल की पहली तिमाही तक आ सकती है। हर्षवर्धन ने कहा कि ‘देश’ में कई वैक्सीन का ट्रायल चल रहा है। अभी हम इस बात का अनुमान नहीं लगा सकते हैं कि कौन सी वैक्सीन सबसे ज्यादा प्रभावी होगी, लेकिन 2021 की पहली तिमाही तक हम निश्चित रूप से इसके परिणाम जान जाएंगे। ‘ केंद्र सरकार सरकार वरिष्ठ नागरिकों और उच्च जोखिम वाले क्षेत्रों में काम करने वाले लोगों के लिए को विभाजित -19 के टीके को सकारात्मक स्वीकृति देने पर विचार कर रही है।

Leave a Reply