मास्क उतारकर बोलने लगे रामगोपाल यादव, तो सभापति वेंकैया दे समझा दिया बैठे-बैठे भी पहनना क्यों जरूरी

नई दिल्ली
कोरोना काल के बीच लोकसभा और राज्यसभा दोनों चल रही हैं। राज्यसभा सभापति वेंकैया नायडू मास्क को लेकर काफी चौकन्ने नजर आ रहे हैं। मंगरवार को उन्होंने सांसद जया बच्चन को मास्क के लिए टोक दिया था। नायडू ने आज सांसद प्रोफेसर रामगोपाल यादव को तो पूरी गाइडलाइंस ही समझा डाली। दरअसल, संसद में अपनी बात रखते हुए रामगोपाल यादव ने मास्क को नीचे सरका दिया। उस बीच तो वेंकैया नायडू ने नहीं टोका लेकिन इसके बाद (M. Venkaiah Naidu) ने ICMR की गाइडलाइंस समझा दी।

सरकार को घेर रहे थे रामगोपाल यादव
दरअसल, रामगोपाल यादव सरकार की विफलताओं को बता रहे थे। वो कोरोना काल के दौरान केंद्र सरकार से अपील कर रहे थे कि राज्यों की मदद करें। रामगोपाल यादव सभापति से कह रहे थे कि हर रोज हजारों करोड़ों की योजनाओं की घोषणा हो रही है लेकिन राज्यों के पास नहीं है। ऐसे में केंद्र सरकार को मदद करनी चाहिए।

2020-09-15 (1)

मास्क क्यों जरूरी
रामगोपाल यादव ने अपनी बात खत्म की तो सभापति वेंकैया नायडू ने तुरंत उनको मास्क के लिए टोक दिया। दरअसल, जब वो अपनी बात कह रहे थे तो मास्क को नीचे खिसका दिया था। इस पर सभापति वेंकैया नायडू ने कहा कि जब भी आप कहीं पर बोल रहे हैं सार्वजनिक जगहों पर तो मास्क जरूर लगाएं क्योंकि आप इस हॉल में बैठे हुए हैं। इस हॉल में एसी भी लगा हुआ है और आपको पता है कि एसी की हवा से वायरस तेजी से फैल सकता है।

2020-09-15 (2)

सदन की कार्यवाही चली
सभापति ने कहा कि आईसीएमआर की गाइडलाइंस है कि जब भी आप किसी से बात करें तो मास्क को मुंह पर लगाएं। क्योंकि अगर ऐसा नहीं करेंगे तो आप कोरोना के वायरस को कैसे रोंकेंगे। नायडू की इतनी सी बात पर रामगोपाल यादव भी हल्का सा शर्मा गए और फिर सदन की कार्यवाही आगे चल पड़ी।

मंगलवार को जया बच्चन को टोका
मंगलवार को सदन में बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत की जांच में निकले बॉलीवुड ड्रग एंगल को लेकर चल रहे विवाद के बीच समाजवादी पार्टी की सांसद और दिग्गज अभिनेत्री जया बच्चन ने मंगलवार को उन अभिनेताओं को फटकार लगाई, जिन्होंने इस इण्डस्ट्री को ‘गटर’ कहा है। इस मामले पर सरकार का समर्थन लेने के लिए बच्चन ने सभापति एम. वैंकेया नायडू से कहा, ‘सर, मैं बात करना चाहती हूं।’

आवाज साफ नहीं आएगी- जया
नायडू ने उन्हें रोककर मास्क पहनने के लिए कहा तो वह बोलीं कि इससे उनकी आवाज साफ नहीं आएगी। इसके बाद उन्होंने अपना परिचय देते हुए कहा, ‘मेरा नाम जया बच्चन है।’ इस पर नायडू ने कहा कि वे मशहूर हैं और उन्हें अपना परिचय देने की जरूरत नहीं है। इस पर उन्होंने जबाव दिया, ‘लेकिन उसी उद्योग को कलंकित किया जा रहा है। मनोरंजन उद्योग हर रोज 5 लाख रोजगार देता है और अप्रत्यक्ष तौर पर 50 लाख लोगों को आजीविका देता है।’

Leave a Reply