मीठी नीम के पत्ते सर स्वाद ही नहीं बढ़ाते है, इन रोगों को भी कर देते है खत्म

मीठी नीम को कई जगह कड़ी पत्ते के नाम से भी जाना जाता है। भारत के कई राज्यों में इसका इस्तेमाल खाने के स्वाद को बढ़ाने के लिए किया जाता है। ज्यादातर इसका इस्तेमाल साउथ की मशहूर डिश डोसा-सांबर में किया जाता है लेकिन हम आपको बता दें कि कड़ी पत्ता यानी मीठी नीम सिर्फ खाने के स्वाद दोगुना ही नहीं करती बल्कि स्वास्थ के लिए फायदेमंद भी होती है। इससे लीवर से जुड़ी बीमारियां, मघुमेह जैसे रोग भी दूर हो जाते है। इस बात से शायद बहुत कम लोग अवगत होंगे कि इससे वजन भी घटाया जा सकता है।

अगर बात दक्षिण भारत की बात करें तो वहां कई खाने के व्यंजन में इन पत्तियों का इस्तेमाल होता है। सिर्फ इतना ही नहीं इसका उपयोग आयुर्वेद में जड़ी-बूटियों के रूप में भी किया जाता है। मीठी नीम में ऐंटी-डायबिटीक, ऐंटीऑक्सीडेंट जैसे गुण पाए जाते है। आज हम आपको इस आर्टिकल में इसके कुछ फायदों से अवगत करेंगे। कड़ी पत्ते का उपयोग खास तौर से दक्षिण भारतीय व्यंजनों में किया जाता है, लेकिन मध्यक्षेत्र और महाराष्ट्र में इसका प्रयोग खूब किया जाता है।

Loading...

और हां, कड़ी का स्वाद तो इस कड़ी पत्ते के बिना अधूरा ही लगता है, तभी तो इसे कड़ी पत्ता कहते हैं। आखिर क्यों आवश्यक रूप से प्रयोग किया जाता है कड़ी पत्ता?

1 अगर आप डाइबिटीज के रोगी हैं, तो कड़ी पत्ता अपने भोजन में शामिल करने पर आप इस समस्या से आसानी से छुटकारा पा सकते हैं। ब्लड शुगर को नियंत्रित करने के लिए यह बेहद फायदेमंद है।

2 कफ होने, कफ सूख जाने या फेफड़ों में जमाव की स्थिति में कड़ी पत्ता आपके लिए बेहद मददगार साबित होगा। इसके लिए कड़ी पत्ते को पीसकर या फिर इसका पाउडर शहद के साथ सेवन करें।

3 आयरन और फॉलिक एसिड के एक बेहतरीन स्त्रोत कड़ी पत्ता आपके शरीर को आयरन सोखने में मदद करता है और एनीमिया जैसी सम्स्याओं से आपको बचाता है। रोजाना खालीपेट कड़ी पत्ता और खजूर खाने से लाभ होगा।

4 किसी भी तरह के त्वचा संबंधी रोग में कड़ी पत्ता फायदेमंद है। लंबे समय से अगर आप मुहांसे या अन्य समस्याओं से परेशान हैं तो प्रतिदिन कड़ी पत्ता खाएं और इसका पेस्ट बनाकर लगाएं।

5 बालों होते है लंबे और मजबूत- कड़ी पत्ते को बालों के लिए वरदान कह सकते है। क्योंकि ये ना सिर्फ आपके बालों को झड़ने से रोकता है बल्कि उनकों लंबे, काले और मजबूत भी बनाता है। कड़ी पत्तें में विटामिन बी1, बी9, बी3, आयरन, कैल्शियम और फॉस्फोरस मौजूद होता है। इसी के साथ ये बालों में रूसी को भी खत्म करता है।

6 पाचन संबंधी समस्या हो या फिर दस्त लगने पर कड़ी पत्ते को पीसकर छाछ में मिलाकर पिएं। यह पेट की गड़बड़ी को भी शांत करेगा और पेट के सभी दोषों का निवारण करने में सहायक होगा।

7. वजन करें कम- आपको ये जानकर हैरानी होगी लेकिन ये सच है आप इससे अपना वजन भी कम कर सकते है। आपको बता दें कि कड़ी पत्तों का सेवन करने से शरीर में जमा फैट धीरे धीरे खत्म हो जाता है। शरीर में मौजूदा चर्बी भी आसानी से कम हो जाएगी। इसके आप इन पत्तियों को उबाल लें और फिर इसके पानी को रोज सुबह सेवन करें

8. पाचन में करें सुधार- कड़ी पत्तों का नाम भले ही मीठी नीम है लेकिन ये खानें में थोड़े कड़वे लगते है लेकिन अगर आप अपनी पाचन क्रिया में सुधार लाना चाहते है तो इसका खाने का साथ सेवन करें। अपनी डाइट में शामिल करने से आपका तनाव भी दूर हो जाएगा।

9 मधुमेंह रोगियों के लिए है वरदान- जो लोग मधुमेंह रोग से पीड़ित है उनके लिए ये बेहद फायदेमंद होता है। इस बीमारी से निजात पाने के लिए रोज सुबह उठकर 3 महीने तक इसका लगातार सेवन करें। इसका सेवन करने से सिर्फ आपकी बीमारी ही छूमंतर नहीं होगी बल्कि डायबिटीज के दौरान जमा हुए मोटापे को भी कम करेगा। कड़ी पत्तों का सेवन आप पाउडर के रूप में कर सकते है या फिर इसको उबाल कर इसका पानी भी सकते

करी पत्ता (का भोजन में प्रयोग) के फायदे

1. पेट संबंधी रोगों में करी पत्तों का इस्तेमाल फायदेमंद होता है। इसके लिए इसे दाल मे तड़का लगाते समय या साउथ इंडियन फूड बनाते समय भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

2. भोजन में करी पत्ते के प्रयोग से पाचन क्रिया भी दुरूस्त रहती है।

3. करी पत्ता मोटापे की समस्या को दूर करता है। रोजाना इन पत्तों को चबाने से वजन कम होता है।

4. मुंह में छाले और सिरदर्द की समस्या में ताजा करी पत्तों को चबाने से लाभ होता है।

5. करी पत्ते में आयरन, कैल्शियम और फॉस्फोरस भरपूर मात्रा में होता है जिससे इन्हें प्रयोग करने से बाल सफेद नहीं होते।

आपको हमारी आज की यह खबर कैसी लगी हमे कमेंट में इसके बारे में अवश्य बताए. और इस खबर को ज्यादा से ज्यादा शेयर करे ताकि दुसरो को भी इसका फायदा मिल सके.