मुसीबत को न्यौता देते है यह 3 लक्षण, जानिए कौनसे है लक्षण

आपने बहुत सी बार देखा होगा कि बहुत सी समस्याएं बिना बुलाए ही आ जाती है. बहुत से लोग तो इसे अपनी किस्मत मान लेते है. और बहुत से सोचते है कि हमारे साथ ही ऐसा क्यों होता है. लेकिन सच तो यह है. ये सब नसीब की बात होती है. और जो नसीब में लिखा होता है वो होकर ही रहता है.

आज हम आपको ऐसी 3 बातों के बारे में बता रहे है. जो मुसीबतों को बुलावा देने का इशारा है. और इन तीनों लक्षणों के बाद मुसीबत आकर ही रहती है.

Loading...

1 – स्त्री प्रदर्शन

घर पर मेहमान आते हैं तो अच्छी बात है.लेकिन कई बार ऐसा होता है की, कुछ हलके दर्ज़े के लोग सिर्फ इसलिए दोस्तों यारों के घर पड़े रहते हैं. ताकि उनकी बीवी, या बहन बेटी के दीदार कर सके, या उनसे दोस्ती यारी का मेलजोल बढ़ा सकें. लोगों से संबंध बढ़ाना अच्छा है लेकिन जब भनक लग जाये की कोई बार-बार भाभी को साथ लाने को कहे या, आप के घर पर बार बार आ धमके तो ऐसे निकम्मे लोगों से दूर होने में ही समझदारी है.

2 – धन प्रदर्शन

अगर आप के पास पैसा है तो उसे लोगों को दिखा दिखा कर उसकी नुमाइश करने में आप ही का नुकसान है. या तो कोई आप से बार बार उधार मांग कर तंग करेंगा. चोरी-चकारी और लुट होने के आसार भी बढ़ जाते हैं. इसके आलावा किसी की गंदी नज़र भी लग सकती है. तो ऐसे में इसी में समजदारी है. की आप धन की नुमाइश ना करें. अधूरे घड़े की तरह छलकते ना रहे. पैसे और संपत्ति को पचाना सीखें. व्यक्ति और वस्तु का दिखावा सिर्फ मुर्फ़ और अज्ञानी लोग करते हैं.

3 – अंग प्रदर्शन

कुछ लोग अधनगे हो कर गली बरामदे में घुमने को मर्दानगी की शान समजते हैं. तो दोस्तों यह दोगली निति का प्रतिक है. क्या हम यह बर्दाश्त करेंगे की घर की बहन बेटी अधनंगी घर के बाहर या छज्जे पर घुमे? तो ठीक उसी तरह पुरुष और स्त्री दोनों को मर्यादा नहीं लांगनी चाहिए, ऐसा इस लिए चूँकि हम एक तरफ तो नारी और पुरुष की समानता की बात करते हैं. और अंग प्रदर्शन में भेदभाव? यह तो गलत होगा ना? इस के आलावा कम कपड़ों में लोगों की गलत नज़र भी रहती है. और यह बात स्त्री पर ही नहीं, आज कल पुरुष पर भी लागू होती है.

आपको हमारी आज की यह खबर कैसी लगी हमे कमेंट में अवश्य बताए. और इस खबर को ज्यादा से ज्यादा शेयर करे. ताकि दुसरो को भी इसका फायदा मिल सके.