युवराज सिंह के करियर की इन पारियों की वजह से वे सफ़ेद बॉल के सिकंदर बन गये

दोस्तों आपका बहुत – बहुत स्वागत है. आज की हमारी इस खबर में हम आपको युवराज सिंह से जुड़ी कुछ बातो के बारे में बता रहे है. आप सभी युवराज सिंह के बारे में तो अच्छे से जानते है. भारतीय टीम के तूफानी बल्लेबाज रह चुके युवराज सिंह ने अपने करियर में ऐसे बहुत से रिकॉर्ड को तोड़कर अपने नाम किया है. जिनसे क्रिकेट के इतिहास में सालों साल के लिए उनका नाम दर्ज हो गया है.

दुनिया के सबसे स्टाइलिश बाएं हाथ के बल्लेबाज भारतीय टीम के सुपरस्टार रहे युवराज सिंह आप अपना 38वां जन्मदिन मना रहे हैं। 12 दिसंबर 1981 को चंडीगढ़ में जन्मे युवराज ने वैसे तो क्रिकेट से संन्यास ले लिया है। लेकिन लोगों के दिलों पर अभी भी युवराज सिंह राज करते है।

सीमित ओवर क्रिकेट फॉर्मट में युवी ने जो पल भारतीय फैंस को दिए वो शायद ही कोई और खिलाड़ी दे सकें। युवराज सिंह के करिशमाई बल्ले ने जो रन निकले वो हमेशा के लिए सुनहरे अक्षरों में कैद हो गए हैं। इन्हीं में से एक है, एक ही ओवर में युवराज का छह छक्के लगाना। इसी कारनामे के बाद युवी दुनियाभर में सिक्सर किंग के नाम मशहूर हो गए।

84 रन बनाम ऑस्ट्रेलिया (आईसीसी नॉकआउट ट्रॉफी, साल 2000)

18 साल की जब उनका सिलेक्शन हुआ तो उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच खेला था इस दौरान उन्होंने क्रिकेट जगत के सबसे खतरनाक गेंदबाज ग्लेन मैकग्रा का सामना किया जो उस समय के सबसे खतरनाक गेंदबाज हुआ करते थे पहला 45 रन के निजी स्कोर पर उन्हें जीवनदान मिला जिसके बाद उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 84 रन की बेहतरीन पारी खेली थी।

69 रन बनाम इंग्लैंड (नेटवेस्ट फाइनल, साल 2002)

फ इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 325 दिन का बड़ा स्कोर खड़ा किया था जिसके बाद भारतीय टीम बल्लेबाजी करने उतरी तो उसके कई महान दिग्गजों पवेलियन लौट चुके थे जिसके बाद बल्लेबाजी करने आए युवराज सिंह जो उस समय लंबे हिट करने के लिए जाने जाते थे और उनके साथ उस समय के सबसे खतरनाक बल्लेबाज मोहम्मद कैफ उनके साथ क्रीज पर थे, और दोनों ने उस समय 121 रन की बड़ी साझेदारी निभाई थी इस दौरान युवराज सिंह ने 69 रन की महान पारी खेली थी।

139 रन बनाम ऑस्ट्रेलिया (सिडनी, साल 2004)

वीबी सीरीज का सातवां मैच जिसे युवराज सिंह के करियर में विदेश में खेली गई सबसे बेहतरीन पारी में गिना जाता है। इस मैच में उनके साथ टेस्ट मैच के बादशाह माने जाने वाले वीवीएस लक्ष्मण ने 109 रनों की नाबाद पारी खेली थी। ये मैच कंगारू गेंदबाज इयान हार्वे को भी याद रहेगा जिनके 49वें ओवर में युवराज ने 22 रन ठोके थे।

Leave a Reply