ये 5 ऐसी गलतियाँ जो पढ़ी – लिखी लड़कियां भी पीरियड के दौरान करती है

आप सभी जानते है लड़कियों और महिलाओं में हर महीने में मासिक धर्म आता है. और अगर इस दौरान ध्यान रखने की बातो के बारे में बताया जाए तो इसकी सूची भी कम हो जाए. हर महीने मासिक धर्म के दौरान बिना पढ़ी – लिखी औरते तो गलती करती ही है. लेकिन ये ऐसी गलतियाँ है. जिन्हें पढ़ी – लिखी लड़कियां भी करती है.

पीरियड में सही से आयरन ना लेना

Loading...

पीरियड्स के दौरान शरीर से काफी खून बहता है. ब्लड लॉस होता है. इसलिए औरतों में ज्यादातर अनेमिया की दिक्कत रहती है. अनेमिया मतलब खून में हीमोग्लोबिन की कमी होना. और ये इसलिए होता है क्योंकि उनके शरीर में आयरन की कमी होती है. ये सब तो ठीक है. पर आयरन की वजह से क्या होता है?

पेन किलर क्रेम्प के शुरू होने के बाद में खाना खाना

हम अक्सर यही करते हैं. जब तक दर्द अपनी चरम सीमा तक नहीं पहुंच जाता तब तक हम पेनकिलर नहीं खाते. ये नहीं करना चाहिए. अगर आप दर्द शुरू होने के बाद पेनकिलर खाती हैं तो वो कम असर करता है. उल्टा यही अगर आप उनको पहले खा लें तो वो ज़्यादा असर करेगा. इसका ये मतलब नहीं कि आप टॉफी की तरह दवाइयां खाएं. पर अगर आपको पता है हर बार पीरियड्स के दौरान आपकी बैंड बज जाती है तो पहले से ही तैयार रहिए. क्योंकि जब कम दर्द हो रहा है तो उसे कंट्रोल करना ज़्यादा आसान होता है.

सेनेटरी पेड़ भी खुशबू वाले

बहुत सी औरतें पीरियड्स के दौरान आने वाली स्मेल से कम्फर्टेबल नहीं फील करतीं. उन्हें शर्मिंदगी महसूस होती है. इसलिए वो ऐसे प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करती हैं जिनमें खुशबू आती है. जैसे खुशबू वाले सेनेटरी पैड्स. इन सेनेटरी पैड्स को ये खुशबू केमिकल्स की मदद से मिलती है. अगर वो केमिकल्स आपकी वजाइना के आसपास भी होंगे तो आपको इन्फेक्शन का डर है. आपको खुजली के साथ-साथ खाज की दिक्कत भी हो सकती है.

पीरियड में ब्लड पर ध्यान ना देना

जब आप अपना इस्तेमाल किया हुआ पैड फेंकती हैं तो उसे देखती भी नहीं. हैं न? पर ये गलत है. पीरियड ब्लड पर ध्यान देना ज़रूरी है. आपका ब्लड बताता है कि आपकी सेहत कैसी है. खून तो गहरा लाल होना चाहिए. कभी कभार अगर क्लॉटिंग भी हो रही है तो कोई बात नहीं. ये नॉर्मल है. पर अगर खून नारंगी रंग का आने लगे तो फौरन किसी डॉक्टर से मिलिए. साथ ही अगर क्लॉटिंग ज़्यादा हो रही है तो डॉक्टर से ज़रूर मिलिए. बिना देर किए. क्योंकि इसका मतलब है आपको कोई इन्फेक्शन हो रखा है.

कॉफ़ी का अधिक सेवन

कॉफी पीना हममें से कई लोगों को पसंद होता है. सुबह ऑफिस में बैठे हैं पर आंख नहीं खुल रही तो कॉफ़ी पी ली. देखिए, कॉफी में कैफीन होता है. और उसकी वजह से होता है डिहाइड्रेशन. मतलब शरीर में पानी की कमी. इसका नतीजा ये होता है कि आपको पीरियड्स क्रेम्प्स होते हैं. और उनमें कितना दर्द होता है वो आपको बताने की ज़रूरत नहीं है. यही नहीं. कॉफी की वजह से आपको एंग्जायटी भी रहती है और पीरियड्स के दौरान काफी बेचैनी भी. उल्टा इस समय आपको ज़्यादा से ज़्यादा पानी पीना चाहिए. इससे शरीर में सूजन भी ठीक होती है.