वास्तुशास्त्र के अनुसार जाने कौनसा पौधा घर में किस दिशा में लगाना होता है शुभ

वास्तु शास्त्र के अनुसार यदि पेड़-पौधों को दिशाओं के अनुरूप सही स्थान पर लगाया जाये तो ये चमत्कारिक लाभ प्रदान करते हैं। वास्तु के मुताबिक सही दिशा में लगाए गए पौधे से हमारा स्वास्थ्य भी ठीक रहता है और घर में सकारात्मक ऊर्जा भी बनी रहती है। तो आइये जानते है कौन सी दिशा में कौन से पेड़-पौधे लगाने चाहिए।


घर के बगीचे या बालकनी की उत्तर-पूर्व एवं पूर्व दिशा में छोटे पौधे लगाने चाहिए। इस दिशा में आप तुलसी, गेंदा,लिली, केला, आंबला, हरीदूब, पुदीना, हल्दी आदि पौधे लगा सकते है। इस दिशाओं में छोटे पौधे लगाने से उनके औषधीय गुणों के साथ उगते हुए सूर्य की स्वास्थ्यवर्धक रौशनी घर में प्रवेश कर सकेंगी, जिससे परिवार के सदस्यों की सेहत दुरुस्त रहेगी और सकारत्मक ऊर्जा का घर में प्रवेश होगा।

Loading...


घर की उत्तर दिशा में नीले रंग के फूल देने वाले पौधे लगाने से जीवन में सुख समृद्धि लाने में सहायक सिद्ध होंगे।

घर की दक्षिण या पश्चिम दिशा में ऊँचे पेड़ों को लगाना उचित माना गया है। पीपल जैसे बड़े पेड़ को घर से पर्याप्त दूरी पर या कहीं खुले स्थान में पश्चिम दिशा की तरफ ही लगाना शुभ परिणाम देता है। पीपल की विशेषता यह है कि यह पेड़ 24 घंटे ऑक्सीजन वायु छोड़ता है। जो वातावरण को शुद्ध करने के साथ-साथ असाध्य रोगों में भी लाभकारी है।


सफ़ेद रंग के फूलों के पौधे जैसे चांदनी, मोगरा, चमेली आदि को भी दक्षिण या पश्चिम दिशा में लगाने से लाभ एवं सफलता प्राप्ति के अवसर बढ़ जाते हैं बच्चो में रचनात्मक शक्ति का विकास होता है।

भगवान शिव का अत्यंत प्रिय बेल के वृक्ष को घर की उत्तर-पश्चिम दिशा यानि वायव्य कोण में लगाना श्रेष्ठ फल प्रदान करता है।


सुख-सौभाग्य के लिए दक्षिण-पूर्व दिशा में अनार का पौधा लगाए जो की हृदय रोग, संग्रहणी, वमन में लाभकारी एवं शक्तिवर्धक है। इस पौधे को घर से बाहर दक्षिण-पूर्व यानि आग्नेय दिशा में लगाने से सुख-सौभाग्य में वृद्धि होती है।

लाल रंग के फूल जीवन में उत्साह, ऊर्जा और उमंग भर देते हैं, घर की दक्षिण दिशा में लगे हुए लाल फूल के पौधे हमें प्रसिद्धि व यश प्रदान करते हैं।


मनीप्लांट, बांस एवं क्रिसमस ट्री वास्तु की दृष्टि पैसे और समृद्धि देने वाले माने जाते हैं। ऐसे पौधों के आप घर की दक्षिण-पूर्व दिशा में लगा सकते है।