शरीर की फूली हुई नसों को भी कर देती है ठीक ये पत्तियां, मेमोरी पॉवर को भी बढ़ाती है

आज हम एक ऐसे पौधे के बारे में बात करने वाले हैं, जिसे आयुर्वेद में ब्राह्मी के समान माना जाता है, इसे गोटू कोला कहा जाता है, मष्तिष्क पर इसका बहुत ही अच्छा प्रभाव पड़ता है, चलिए जान लेते हैं इसके फायदे।

गोटू कोला के फायदे

Loading...

एक दिन में 2 बार 2 ग्राम गोटू कोला के पाउडर को दूध के साथ लेने पर तनाव दूर होता है, और काम में ध्यान केन्द्रित होता है, फूली हुई नसों के उपचार में गोटू कोला बहुत उपयोगी है, ये रक्त संचार में सुधार करती हैं, जिससे फूली हुई नसों में आराम मिलता है और नसें अपनी वास्तविक स्थिति में आ जाती हैं।

ये बच्चों के लिए बहुत लाभदायक होता है, इसमें पाए जाने वाले कई तत्व बच्चों में एकाग्रता को बढाते हैं, जिससे उनका मन पढाई में लगता है, और उनकी प्रतिक्रिया भी तेज हो जाती है।

जिन लोगों को नींद न आने की समस्या है, उनके लिए भी गोटू कोला लाभदायक होता है, इसके लिए 3 ग्राम गोटू कोला पाउडर को सोने से पहले एक कप दूध के साथ सेवन करें।

यह याददाश्त को भी बढ़ाने में कारगर होती है, गोटू कोला हमारे मष्तिष्क में ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करता है जिससे मेमोरी पॉवर बूस्ट होती है।

आपको हमारी आज की यह खबर कैसी लगी हमे कमेंट में इसके बारे में अवश्य बताए. और इस खबर को ज्यादा से ज्यादा शेयर करे. ताकि दुसरो को भी इसका फायदा मिल सके.