बच्चा पैदा करने से जुड़े 5 झूठ जो औरतें मान लेती हैं आसानी से

1. डिलीवरी के बाद औरतों को नहाना नहीं चाहिए न ही पानी छूना चाहिए

सच – चाहे आपकी नॉर्मल डिलीवरी हो या सी-सेक्शन. दोनों ही सूरतों में आपको टांके लगाए जाते हैं. उनको ठीक होने में कुछ समय लगता है. अगर नॉर्मल डिलीवरी है तो आपको कम से कम 24 घंटे तो रुकना ही चाहिए. ऑपरेशन से डिलीवरी हुई है तो टांके ठीक होने में तीन हफ़्ते का समय लगता है. दोनों ही सूरतों में थोड़ा केयरफुल रहने की ज़रूरत है. आप कब नहा सकती हैं, इस बारे में अपने डॉक्टर से बात ज़रूर करिए. जब तक टांके पूरी तरह ठीक नहीं हो जाते, तब तक नहाने के लिए शावर लीजिए. टब में बैठकर तो बिल्कुल मत नहाइए. नहाने के बाद खाल को अच्छे से साफ़ करिए. डिलीवरी के 24 घंटों के बाद गरम पानी से मत नहाइए. क्योंकि आपका काफ़ी खून बहा है इसलिए आपको चक्कर आएगा.”

Loading...

2. बच्चे के शरीर से निकलते ही आपकी डिलीवरी खत्म हो जाती है

फिल्मों में अक्सर दिखाते हैं. बच्चा पैदा हुआ. उसे पोंछ-पाछकर मां के हाथों में दिया जाता है. सारे रिश्तेदार और परिवारवाले आकर मां को घेर लेते हैं. पर असलियत में सीन थोड़ा अलग है. बच्चे के शरीर से बहार आने का मतलब ये नहीं कि डिलीवरी ख़त्म हो गयी. पिक्चर अभी बाकी है मेरे दोस्त. बच्चे के बाहर निकलने के 30 मिनट बाद प्लेसेंटा शरीर के बहार निकलता है. और जब तक ये निकल नहीं जाता तब तक डिलीवरी पूरी नहीं होती .

3. क्या पानी फटते ही आप लेबर में चली जाएंगी?

गर्भाशय के सिकुड़ने और फैलने से औरत लेबर में जाती है. बच्चा इसी मूवमेंट की वजह से शरीर के बहार आता है. आमतौर पर ये माना जाता है कि पानी की थैली फटते ही ऐसा शुरू हो जाता है. पर ये सच नहीं है. ज़्यादातर ये थैली फटने के 12 से 24 घंटों बाद शुरू होता है. पर कुछ औरतों में पानी की थैली लेबर में जाने से काफ़ी पहले ही फट जाती है. तब उनका शरीर बच्चा पैदा करने के लिए तैयार नहीं होता.”

4. कूल्हे की हड्डी अगर चौड़ी हो तो बच्चा पैदा करने में आसानी होगी

“नहीं. ये बहुत ही आम धारणा है पर इसमें कोई सच्चाई नहीं है. आप कितनी आसानी से बच्चा शरीर के बाहर निकाल सकती हैं, उससे आपके शरीर की बनावट का कोई लेना-देना नहीं है. कुछ औरतों का निचला हिस्सा चौड़ा लगता है पर उनका पेडू पतला होता है. जितना पतला पेडू, डिलीवरी में उतनी दिक्कत.”


5. डिलीवरी के बाद रिकवरी के लिए अजवाइन का पानी पीना चाहिए

डिलीवरी के बाद अगर आपको अपना वज़न घटाना है तो अजवाइन का पानी पीजिए. साथ ही हेल्दी डाइट भी लीजिए. ब्रेस्टफ़ीडिंग कराते समय अजवाइन का पानी पीने से ब्रेस्टमिल्क की क्वालिटी भी अच्छी होती है. उसमें और पोषक तत्व आते हैं जो आपके बच्चे की सेहत के लिए काफ़ी अच्छा है. यही नहीं. डिलीवरी के बाद आपके शरीर में कुछ समय तक दर्द रहेगा. अजवाइन का पानी उससे निपटने के लिए एक अच्छा तरीका है.