Category: History

Nag Panchami 2020: सांप को दूध पिलाना खतरनाक या फायदेमंद, जानें क्या कहता है धर्म और विज्ञान

नागपंचमी का त्योहार श्रावण कृष्ण पंचमी और श्रावण शुक्ल पंचमी इन दोनों तिथियों में मनाया जाता है। बिहार, बंगाल, उड़ीसा, राजस्थान में लोग कृष्ण पक्ष में यह त्योहार मनाते …

Nag Panchami 2020: नाग पंचमी पर भूलकर भी नहीं ये काम, वरना भोगना पड़ेगा …

नाग पंचमी (Nag Panchami) का हिन्‍दू धर्म में विशेष महत्‍व है. इस दिन सांप या नाग की पूजा की जाती है और उन्‍हें दूध पिलाने का विधान है. मान्‍यताओं …

Nag Panchami 2020: जानिए क्यों मनाया जाता है नागपंचमी का त्योहार, क्या है नागों को दूध चढ़ाने का महत्व

Nag Panchami 2020: पूरे भारत में आज नागपंचमी मनाई जा रही है। हिन्दी और संस्कृत में नाग का मतलब सांप है और नागों को समर्पित इस त्योहार के दिन उनकी …

कारगिल विजय दिवस : कारगिल का वो हीरो जिसने कहा था अगले जन्म में फिर सेना में भर्ती होना चाहूंगा

जीवन में अनुशासन, फौलादी जुनून और दिल में असीम प्यार। देश की मिट्टी और सभी से प्यार। सेना ने डीयू से पढ़ा, जिसे देश के साथ-साथ डीयू ने भी …

कारगिल विजय दिवस: युद्ध में शहीद हुए सबसे कम उम्र के इस जवान की कहानी नहीं जानते होंगे आप

1999 जुलाई 16 … यह वह तारीख है जिसे देश का कोई भी व्यक्ति नहीं भूल सकता। यह एक प्रशंसा है जब हमारे बहादुर सैनिकों ने पाकिस्तान को तिरंगा …

कारगिल विजय दिवस : इन फिल्मों में देखिए, कारगिल में भारत ने पाकिस्तान को कैसे चटाई थी धूल

भारत ने 1999 में कारगिल युद्ध के दौरान 26 जुलाई को जीता था। भारत और पाकिस्तान के बीच यह युद्ध 60 दिनों तक चला था। भारत ने पाकिस्तान को …

Kargil Diwas 2020: ऑपरेशन विजय के 21 साल, इन शायरियों में महसूस करें उन वीर योद्धाओं के साहस की कहानी

आज पूरे भारत में कारगिल विजय दिवस मनाया जा रहा है। इस दिन, भारत को 26 जुलाई 1999 को कारगिल युद्ध में जीत लिया गया था, जिसके कारण हर …

करगिल विजय दिवस : भारतीय वायुसेना ने 32,000 फीट की ऊंचाई से बमबारी कर पाकिस्तान को चटाई थी धूल, जानिए 10 बातें

भारत ने 26 जुलाई 1999 को कारगिल युद्ध जीता था। कारगिल विजय दिवस हर साल 26 जुलाई को कारगिल युद्ध में भारत की जीत के बाद से मनाया जाता …

चार्ल्स चक: अमेरिका का वो स्नाइपर, जिसने 30 सेकंड में उड़ाए 16 दुश्मनों के सिर!

घंटों तक एक ही जगह पर बिना हिले बैठे रहना. ऊँगली राइफल के ट्रिगर पर और आँखें राइफल के ऊपर लगे स्कोप पर लगाए रखना. जैसे ही दुश्मन दिखे, …

बाबा हरभजन सिंह: एक शहीद, जो मरने के बाद भी देश की भारत-चीन बॉर्डर की पहरेदारी कर रहा है!

ये कहानी है दिल्ली से लगभग 1600 किलोमीटर दूर भारत के सिक्किम राज्य में ठंडी वादियों में बसे नाथूला दर्रा के पास भारत-चीन बॉर्डर की. इसी नाथूला दर्रा के …