ऐसे व्यक्ति का न तो कोई वर्तमान होता है न ही कोई भविष्य : चाणक्य

Chanakya Neeti In Hindi: आचार्य चाणक्य भारत के सर्वश्रेष्ठ विद्वानों में से एक हैं। उनकी शिक्षाएं और नीतियां व्यक्ति को सफल बनाती हैं, साथ ही वर्तमान और भविष्य के बारे में भी बताती हैं। आचार्य चाणक्य की चाणक्य नीति कहती है कि वह व्यक्ति कभी भी प्रगति नहीं करता जो काम को कल पर टाल देता है। ऐसे व्यक्ति का भाग्य भी सो जाता है।

chanakya-niti

चाणक्य के अनुसार व्यक्ति को वर्तमान और भविष्य के बारे में सोचना चाहिए। वर्तमान में किए गए कार्यों का लाभ भविष्य की नींव बनाता है। इसलिए वर्तमान को इतना परिष्कृत करें कि भविष्य खतरे में पड़ने लगे। वर्तमान और भविष्य को सजाने के लिए किसी व्यक्ति में ये गुण होना बहुत जरूरी है।

आलस्य त्याग दें – चाणक्य के अनुसार, आलसी व्यक्ति के पास न तो कोई भविष्य होता है और न ही कोई भविष्य। आलस्य व्यक्ति के लिए एक बीमारी की तरह है जो उसकी प्रगति को रोक देता है। इसलिए, इस बीमारी से जल्द से जल्द छुटकारा पाना चाहिए।

अपनी प्रतिभा को निखारें – प्रत्येक व्यक्ति में कोई न कोई विशेष प्रतिभा होती है, इस प्रतिभा को श्रम, अनुशासन और दृढ़ता के साथ निरंतर खोजा जाना चाहिए। क्योंकि व्यक्ति को उसकी प्रतिभा से ही सम्मान मिलता है। जो उनके वर्तमान और भविष्य दोनों को संवारने में मदद करता है।

संसाधन प्रयोग – संसाधनों की कमी से दुखी नहीं होना चाहिए। उसके पास जो भी संसाधन हों, उसे अपनी समझदारी और समझदारी का उपयोग करते हुए आगे बढ़ना चाहिए। संसाधनों की पूर्ति पर, व्यक्ति विकास का मार्ग प्राप्त कर सकता है। लेकिन इतिहास ऐसे लोगों को प्राप्त करता है जो सीमित संसाधनों के बिना सफलता प्राप्त करते हैं। ऐसे लोगों का ही वर्तमान और भविष्य होता है।

Leave a Reply