राजस्थान के महिला के हाथ और मुंह बांध बेरहमी से पीटा, फिर गुप्तांगों में केरोसिन तेल डालकर जलाया

राजस्थान के नागौर जिले में घरेलू हिंसा का एक बेहद डराने वाला और वीभत्स मामला सामने आया है. जिले के कुचेरा थाना क्षेत्र स्थित एक गांव में आपसी कलह के दौरान ससुराल पक्ष के लोगों ने बहू को बुरी तरह मारा-पीटा. यही नहीं बहू के गुप्तांगों को केरोसिन डालकर और गर्म सरियों से दागकर जलाने के साथ गुप्तांगों में बीयर की बोतल डालने की बात पीड़िता ने पुलिस को कही है. जब इस बारे में नागौर शहर में रहने वाले परिजनों को सूचना मिली तो पीहर पक्ष के लोगों ने कुचेरा थाना पुलिस के साथ जाकर घायल महिला को नागौर के जवाहर लाल नेहरू अस्पताल में भर्ती कराया, जहां  घायल स्थिति में बहू का इलाज चल रहा है. यह पूरा मामला नागौर जिले के कुचेरा थाना इलाके के सिरसला गांव का है.

इस विवाहिता को सुसराल मे ऐसी कड़वी यादें दी, जो अब ताउम्र भुलाई नहीं जा सकती है.  ससुराल पक्ष द्वारा बड़ी बेरहमी से बहू की पिटाई करने और उसे शारीरिक एवं मानसिक रूप से प्रताड़ित का मामला सामने आया है. नागौर जिले की एक विवाहिता के साथ ससुराल पक्ष के लोगों ने कुछ ऐसा बर्ताव किया कि सुनने वालों के होश उड़ गए है. जानकारी के मुताबिक, जब रात में विवाहिता का पति दवा लाने बाहर गया था, तभी सास, देवर और देवरानी ने योजनाबद्ध तरीके से विवाहिता के साथ विवाद खड़ा कर दिया.

पीड़िता के मुताबिक, इसके बाद कुछ दिन पूर्व हुई बात को लेकर हुए विवाद के दौरान सास सन्तोष व देवर प्रकाश और देवरानी बीबी ने उसके मुंह पर कपड़ा लगाकर और हाथ पैर बांधकर रातभर पीटा और फिर तेल छिड़क कर उसे जलाने का प्रयास भी किया गया. यही नहीं उसके गुप्तांगों में बीयर की बोतल डाली गई और गुप्तांगों को केरोसिन डालकर और गर्म सरियों से दागा गया.

पीड़िता के भाई का कहना है कि मामले में दोषी आरोपियों की गिरप्तारी हो. वही पीड़िता का कहना है कि देवर प्रकाश सास सन्तोष देवरानी बीबी ने बेहरमी से मारपीट की है. अब शरीर पर  उभरे चोट में निशान को देखने के बाद अब कुचेरा थाने में रिपोर्ट देने पर जवाहर लाल नेहरू अस्पताल में मेडिकल बोर्ड का गठन करने के बाद पीडिता की मेडिकल जांच हुई है.

कुचेरा थाना पुलिस का कहना है कि मामले में गहनता से जांच की जा रही है, जिसके जांच अधिकारी मुंडवा सीओ है. दोषियों के खिलाफ नियमानुसार कड़ी कार्रवाई की जाएगी. कुचेरा थाने में धारा 458, 342, 323 और 324 में मामला दर्ज कर लिया है. आपको बता दें कि लॉकडाउन की वजह से ना केवल लोगों की जीवन शैली में बदलाव आया है, बल्कि उनके मनोविज्ञान पर इसका प्रभाव देखने को मिला है. इसका एक दुष्परिणाम यह भी है कि घरेलू हिंसा के मामले बढ़े हैं. वही एसपी नगैर डॉ विकास पाठक का कहना है कि मामला गम्भीर है, पुलिस ततपरता से जांच कर रही है. एक आरोपी को गिरफ्तार भी कर लिया गया है. जांच के आदेश दिए हैं.

Leave a Reply