पेशाब करते समय जलन और दर्द होता है तो फटाफट जान लीजिए यह चीज़

यूरिन पास करते समय जलन होना या पेट के निचले हिस्से में दर्द होने जैसी समस्याएं बहुत आम हैं। क्योंकि ये समस्याएं हमारी दैनिक क्रियाओं से प्रेरित होती हैं। यानी अगर कोई व्यक्ति यूरिन का अहसास होने की स्थिति में भी घंटों उसे कंट्रोल करे और तब यूरिन पास करने जाए तो इस स्थिति में उसे आमतौर पर तीन समस्याओं का सामना करना पड़ता है…

-बहुत देर तक पेशाब रोककर रखने से सबसे पहली दिक्कत तो यह होती है कि यूरिन पास करने के बाद भी ऐसा लगता रहता है, जैसे अभी और यूरिन आ रहा है। यह स्थिति मानसिक रूप से बहुत अधिक उलझानेवाली होती है।

-बहुत देर तक यूरिन ना जाने के बाद दूसरी समस्या होती है जलन होने की। इस दौरान महिलाओं और पुरुषों को यूरिनरी ग्लैंड और यूरेथ्रा (यूरिन को शरीर से बाहर फेंकनेवाली ड्यूब) में तेज जलन का अहसास होता है, जो बहुत असहज करनेवाली स्थिति होती है।

-देर तक यूरिन कंट्रोल करने पर तीसरी समस्या होती है पेट के निचले हिस्से में दर्द होने की। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि शरीर को जिस अतिरिक्त पानी की जरूरत नहीं होती है, मसल्स को उस पानी को रोककर रखने में बहुत अधिक मेहनत करनी होती है। इससे पेट के निचले हिस्से की मसल्स पर दबाव पड़ता है और दर्द होने लगता है।

भारत में तेजी से बढ़ रही कोरोना इम्युनिटी पर खुशी से ज्यादा सतर्कता जरूरी, जानें वजह

-जो लोग शरीर की जरूरत के हिसाब से पानी नहीं पीते हैं, उन्हें भी पेशाब में जलन होने की समस्या का सामना करना पड़ता है। इसलिए हर व्यक्ति को हर रोज कम से कम 8 बड़े गिलास या तीन लीटर पानी जरूर पीना चाहिए।

  • खाने में मिर्च, मसाले और तैलीय पदार्थों का अधिक उपयोग करनेवाले लोगों को भी बार-बार यूरिन आने की समस्या होती है। साथ ही इस दौरान यूरिन में जलन भी होती है।

-यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन यानी यूटीआई भी पेशाब करते समय जलन का कारण हो सकता है। पथरी होने पर या किडनी स्टोन होने पर भी यूरिन में जलन की दिक्कत हो सकती है।

-जिन लोगों को लंबे समय से लिवर से जुड़ी समस्या या कोई रोग बना हुआ हो, उन्हें भी यूरिन पास करते समय तेज जलन की परेशानी का सामना करना पड़ता है।

Leave a Reply