भारत चीन युद्ध : भारत के 17 सैनिक नदी में गिरे, चीन के 800 सैनिक हो गए थे जमा

गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों के बीच जो हिंसक झड़प हुई, उसमें एक और नया अपडेट सामने आ रहा है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार गलवान घाटी में रात के अंधेरे में हुई झड़पों में कई सैनिक नदी या खाई में गिरने से शहीद हुए. चीनी सैनिक कील लगे डंडों और कंटीले तार लपेटे लोहे की रॉड से लैस थे और पूरी तैयारी के साथ आए थे.

सूत्रों के मुताबिक भारत के करीब 20 सैनिक शहीद हो गए हैं और चीन को भी करीब-करीब इतना ही नुकसान हुआ है. भारत के जो सैनिक शहीद हुए हैं उनमें एक कर्नल रैंक का अधिकारी भी शामिल है. चीन की तरफ से 43 जवान हताहत हुए हैं. हताहतों में मरने वाले और गंभीर रूप से घायलों की संख्‍या शामिल हैं. उच्‍च पदस्‍थ सूत्रों के अनुसार चीन की तरफ से हताहतों की संख्‍या में इजाफा भी हो सकता है. सूत्रों का कहना है कि चीन की तरफ की बातचीत को इंटरसेप्‍ट किया गया है, उसी आधार पर ये दावा किया जा रहा है.

भारतीय सेना ने भी आधिकारिक बयान जारी कर पुष्टि की है कि भारत के 20 जवान शहीद हुए हैं. जबकि इससे पहले ये खबरें आई थीं कि एक अफसर समेत तीन जवान शहीद हुए हैं. सेना का कहना है कि 17 गंभीर रूप से घायल सैनिक भी शहीद हुए. इसके साथ ही सेना ने ये भी कहा कि भारत की संप्रभुता की रक्षा के लिए सेना प्रतिबद्ध है.

वहीं, इसके बाद लद्दाख में वास्‍तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर भारत और चीन के बीच झड़प के बाद चीनी हेलीकॉप्‍टरों को एलएसी पार देखा गया. सूत्रों के हवाले से कहा कि इस घटना के बाद चीनी हेलीकॉप्‍टरों की संख्‍या में इजाफा देखा गया. ये माना जा रहा है कि मारे गए चीनी जवानों, घायल सैनिकों को एयरलिफ्ट कराने के इरादे से ये आए थे.

भारतीय सैनिकों ने भी जवाबी कार्रवाई की। कुछ मिनट बाद चीन की दूसरी गश्त वहां पहुंच गई। फिर भारतीय सेना की दूसरी गश्त भी पहुंची। इसके बाद एक-एक करके टुकड़ियां आती गईं। चीन की ओर से करीब 800 सैनिक जमा हो गए। भारत के सैनिक कम थे। शाम छह बजे तक दोनों ओर के सैनिकों के बीच घमासान होने लगा था।

सैनिक पत्थर, लाठी और लोहे की राॅड से एक-दूसरे पर हमला कर रहे थे। इसके कारण एक छोटे से रिज पर भगदड़ की नौबत आ गई। रात के अंधेरे में कई सैनिक रिज से गालवन नदी में गिर गए।

Leave a Reply