कोरोना को बनाया अवसर : 2 महीने में भारत ने बना लिया स्वदेशी वेंटिलेटर “प्राणवायु”, परीक्षण सफल , कीमत बस ..

मात्र पच्चीस से तीस हजार रुपये की लागत से बना पूर्ण स्वदेशी वेंटिलेटर “प्राणवायु” एम्स ऋषिकेश में हुए परीक्षण में सफल पाया गया है। इस वेंटिलेटर के सभी पुर्जे व तकनीक भी स्वदेशी है।

यहां एम्स ऋषिकेश के निदेशक रविकांत ने मीडिया को यह जानकारी देते हुए कहा कि करीब ढाई महीने पहले उक्त वेंटिलेटर को तकनीकी रूप से विकसित किया गया था।

उन्होंने बताया कि आईआईटी रुड़की व एम्स ऋषिकेश के संयुक्त तत्वावधान में विकसित इस वेंटिलेटर ‘प्राणवायु’ का तब से एम्स ऋषिकेश में परीक्षण किया जा रहा था और यह वेंटिलेटर हर प्रकार के चिकित्सकीय परीक्षण में पूरी तरह सफल पाया गया है ।

पूर्ण रूप से स्वदेशी यह वेंटिलेटर ऐसे समय मे तैयार किया गया है जब भारत सहित लगभग पूरी दुनिया कोरोनावायरस की चपेट में हैं। भाषा सं दीप्ति अर्पणा

Leave a Reply