SBI ATM से पैसे निकालने से पहले जरूर कर लें यह काम, 18 सितंबर के बाद नहीं कर पाएंगे लेनदेन

    SBI ATM कैश विदड्रॉल की जरूरत होगी 18 सितंबर से मोबाइल otp- इंडिया टीवी paisa
फोटो: एसबीआई

18 सितंबर से एसबीआई एटीएम कैश निकासी की जरूरत होगी

नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े बैंक, भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने अपने एटीएम नेटवर्क से फर्जी लेनदेन पर लगाम लगाने के लिए नए नियम बनाए हैं, जो दो दिन बाद यानी 18 सितंबर से पूरे देश में लागू हो जाएंगे। बैंक ने एक बयान में कहा मंगलवार को ओटीपी आधारित नकद निकासी की सुविधा 18 सितंबर से 24 घंटे उपलब्ध होगी जो कि 10,000 रुपये और उससे अधिक के लेनदेन पर होगी। इस साल जनवरी में, बैंक ने सुबह 8 बजे से 8 बजे के बीच 10,000 रुपये और उससे अधिक के लेनदेन पर ओटीपी आधारित निकासी सुविधा की शुरुआत की।

बैंक ने एक बयान में कहा कि 10,000 रुपये और उससे अधिक की निकासी के लिए, बैंक के डेबिट कार्ड धारकों को अपना कार्ड पिन और साथ ही ओटीपी को अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर पर भेजना होगा। उन्हें हर लेनदेन के लिए ऐसा करना होगा। बैंक के प्रबंध निदेशक (खुदरा और डिजिटल बैंकिंग) सीएस सेटी ने कहा कि एसबीआई ग्राहक 24 घंटे ओटीपी आधारित एटीएम निकासी सुविधा के साथ सुरक्षित और जोखिम मुक्त निकासी का अनुभव करेंगे।

बयान के अनुसार, इस सुविधा से एसबीआई डेबिट कार्ड धारकों को धोखाधड़ी से बचने में मदद मिलेगी। बैंक ने अपने सभी ग्राहकों से मोबाइल नंबर रजिस्टर करने या अपडेट करने का आग्रह किया है। बैंक ने कहा कि ओटीपी आधारित नकद निकासी की सुविधा केवल एसबीआई एटीएम में उपलब्ध है। यह सुविधा अन्य एटीएम में विकसित नहीं की गई है।

बैंक ने अपने बयान में कहा कि 24 घंटे ओटीपी आधारित लेनदेन के कार्यान्वयन के साथ, ग्राहक कार्ड क्लोनिंग, कार्ड स्किमिंग, अनधिकृत लेनदेन और धोखाधड़ी जैसी समस्याओं से बचने में सक्षम होंगे। SBI देश का सबसे बड़ा सार्वजनिक बैंक है। इसके बैंकिंग नेटवर्क की देश भर में लगभग 22,000 शाखाएँ हैं। 6.6 करोड़ से अधिक एसबीआई ग्राहक मोबाइल बैंकिंग और एटीएम सुविधाओं का उपयोग करते हैं।

Leave a Reply