BS3 और BS4 इंजन क्या है ? BS3 and BS4 Engine Difference In Hindi

BS3 and BS4 Engine Difference In Hindi – आपने भी BS3 और BS4 engine के बारे में सुना होगा. लेकिन आपको What is the difference between BS3 and BS4 Engine के बारे में ज्यादा पता नहीं होगा. आपने 2017 में BS3 की गाड़ियों के बंद होने की बात सुनी होगी. और आपको शायद यह समझ नहीं आया होगा कि BS3 की गाड़ियां बंद क्यों हुई है. और BS3 और BS4 engine में क्या Difference है. आज हम आपको मन में उठने वाले सारे सवालों के जवाब दे रहे है.

BS3 and BS4 Engine Difference In Hindi
BS3 and BS4 Engine Difference In Hindi

What is the difference between BS3 and BS4 Engine | BS3 Aur BS4
Engine Kya Hota Hai | BS3 and BS4 Engine Difference In Hindi

सबसे पहले तो हम आपको यह बता दे कि ये आखिर में BS क्या होता है क्या आप BS के बारे में जानते है. आप शायद अभी तक BS के बारे में भी नहीं जानते होंगे. BS एक मानक है. जो गाड़ियों के प्रदुषण के बारे में बताता है कि गाडियां कितनी प्रदूषित हो चुकी है. BS की Full Form भारत स्टेज होती है. BS एक मानक है. जो गाड़ियों से निकलने वाले धुए से Pollution का पता लगाता है. इस मानक को Central polution control board तय करता है. हमारे देश में सुप्रीम कोर्ट ने 1 अप्रैल 2017 को BS3 वाली गाड़ियों पर रोक लगा दी थी.

1 april 2017 के बाद सुप्रीम कोर्ट ने ये बता दिया है कि अब BS3 की गाड़ियों का निर्माण नहीं किया जाएगा. सिर्फ BS4 मॉडल की गाड़ियां की बनाई जाएगी. और बेची जाएगी.

BS engine क्या है | History Of BS Engine In Hindi | BS Engine Kya Hota Hai

BS Engine सबसे पहले India में सन 1991 में Petrol के लिए और सन 1992 में diesel दोनों के लिए लागू किया गया था. इसके बाद ही catalytic converter petrol की गाड़ियों के लिए भी अनिवार्य कर दिया गया है. उस समय भारत का स्वाधीन मापदंड नहीं था. इसके कारण इसके सभी मापदंड European मापदंड के अनुसार ही किया गया है.

BS3 को भी सन 2010 में पूरे देश में लागू कर दिया गया था, reference के लिए EURO3 रखा गया.

सन 2016 में BS4 कुछ ही राज्यों में लागू किया गया था. लेकिन सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद इसे पूरे देश में लागू कर दिया गया.

भारत सरकार 2020 तक पूरे देश में BS6 engine को लागु कर दिया जाएगा.

BS3 और BS4 Engine में क्या अंतर है | What is difference between BS3 and BS4 In Hindi

BS engine का प्रयोग Pollution को कम करने के लिए किया गया है लेकिन इसमें अब और भी अच्छा engine आ गया है इसमें BS3 से भी अच्छा मानक है इससे प्रदुषण BS3 से 80% कम होगा. BS4 engine BS3 engine से काफी अच्छा है.

अगर गाड़ियों के माइलेज की बात करे तो BS3 और BS4 engine से माइलेज में कोई भी फर्क नहीं पड़ता है.

BS के आगे आने वाले नंबरों का महत्व | importance of numbers coming forward to BS

BS engine के आगे कुछ नंबर होते है. उन नंबरों से engine कितना प्रदुषण करता है. इसका पता चलता है. BS engine में जितने ज्यादा नंबर होते है. वो engine उतना ही प्रदुषण कम करता है. BS3 engine बंद होने के बाद भारत में BS4 मानक के engine ही प्रयोग में लिए जाएंगे.

BS4 engine का प्रयोग क्यों किया गया | Why Used BS4 engine In Hindi | BS4 Engine Ka Use Kyo Kiya

हमारे देश में बढ़ते प्रदुषण के चलते भारत सरकार ने BS4 के engine को लागू किया गया है. इससे हमारे देश में बढ़ते हुए प्रदुषण में कमी होगी. BS3 engine में दुपहिया वाहन भारत में बहुत ज्यादा है इसीलिए दो पहिया वाहन में BS3 engine को replace करके BS4 engine को लागू किया गया है

BS4 Engine के फायदे |Benifit of BS4 Engine In Hindi | BS4 Engine Ke fayde

BS4 के engine से प्रदुषण काफी कम होता है. यह प्रदुषण को कम से कम 80% तक किया गया है लेकिन BS3 के engine ज्यादा प्रदुषण करते है. और वे जहरीली गैस भी ज्यादा बनाते है. इसी के कारण BS4 के engine को बनाया गया है.

BS4 Engine बिना जले ही धुए को बाहर नहीं निकाला जाता है. engine के साथ ही में एक कंटेनर भी लगा होता है. जो पर्यावरण को प्रदुषण से बचाता है.

BS4 engine थोड़ा महंगा जरुर होता है लेकिन इससे पर्यावरण को नुकसान कम होता है और इससे आप International standard की गाडियां इस्तेमाल करेंगे जिससे आपको आगे किसी भी तरह की कोई रुकावट नहीं होगी.

BS4 engine का भविष्य क्या है | What is the future of BS4 engine

1 अप्रैल 2017 से ही BS3 engine को बंद कर दिया है. इसके बाद से BS4 engine वाली गाडियां बनने लगी है केंद्र सरकार ने जब BS4 engine लागू किया. तब इसकी सीमा पुरे देश में 2020 तक पूरे देश में BS4 के engine लागू हो जायेंगे.

इसके लिए केंद्र सरकार BS5 को ignore कर देगी. इसी के साथ में केंद्र सरकार diesel और petrol की purity पर भी खर्च करेगी.

इसके लिए फिर automakers को भी इसके लिए पहल करनी पड़ेगी automkers को भी इसके लिए अपने Infrastructure को थोड़ा और Improve करना होगा. और इसी के साथ में अपने manufacturing plants को भी Upgrade करना होगा इसके बाद ही Compnay BS5 engine बना पाएगी.

इससे गाडियां थोड़ी महंगी जरुर हो जाएगी लेकिन इसके फायदे भी है. इसके customers के पास बहुत सारे विकल्प भी होते है. इससे गाडियां भी अंतरराष्ट्रीय बाजार के standard में आ जाएगी. इससे व्यापार में भी बढ़ोतरी होगी.

दोस्तों उम्मीद करते है की आपको What is the difference between BS3 and BS4 Engine in Hindi और BS Engine Kya Hota Hai से जुड़े हुए सभी सवालों का सही जवाब मिल गया होगा. अगर आपके पास BS3 and BS4 Engine Difference In Hindi से जुड़ी हुई और कोई जानकारी है तो आप हमे कमेंट में जरुर बताएं.